Breaking News

शराब के नशे में घर में घुसकर नशेड़ी भैंसुर ने भावज व भतीजी के साथ की मारपीट



पातेपुर से मोहम्मद एहतेशाम पप्पु एवं बब्लू मिश्रा की रिपोर्ट , पातेपुर (वैशाली) // थाना क्षेत्र के रमौली गांव में बीती देर रात नशेड़ी भैंसुर ने घर में घुसकर भावज के साथ मारपीट-दुर्व्यवहार किया। अपनी मां को बचाने आई नाबालिग बच्ची को लात-घूसों से आरोपी भैंसुर व उनके दो बेटे गंभीर रूप से जख्मी कर दिया। ठीक एक दिन पहले रात में जब महिला लघुशंका के लिए कमरे से बाहर निकली नशेड़ी भैंसुर ने गलत नियत से पकड़ लिया था। उसकी चीख पर परिवार के लोग जुटे तो आरोपी भाग निकला। महिला पुलिस में कम्प्लेन के लिए थाना जाने के लिए अपने मायके वालों को सूचना देकर बुलाया। वे लोग जब तक देर रात पहुंचते। महिला को जान से मार देने की नीयत से आरोपी और उसके दो बेटे जानलेवा हमला किया।

पीड़िता का यह है आरोप

 पीड़िता अमृता सिंह पति सुजीत कुमार रमौली,  सिमरखाड़ा थाना पातेपुर ने प्राथमिकी दर्ज करने हेतु थाना में दिए आवेदन में कहा है कि 18-05-2022 समय रात्री करीब 9: बजे मैं अपने कमरे में अपने दोनों बच्चों के साथ सोने जा रही थी। इसी दौरान अनिल सिंह उर्फ बबलू सिंह पिता - श्री उमा प्रसाद एवं (1) आदित्य भारद्वाज पिता - अनिल सिंह उर्फ बबलू सिंह, 02. पंकज संह पिता उमा प्रसाद सिंह तीनों एक मेल वो राय से मेरे कमरे का दरवाजा खटखटाया। जैसे ही मैंने कमरे का दरवाजा खोला बबलू ने अपने बेटे वे उन सबको आदेश दिया की मारो। गंदी गालियां देते हुए उनके आदेश पर आदित्य ने कमरे से पिस्तौल निकालकर उसके बट से प्रहार करना शुरू कर दिया। पंकज सिंह हाथ में लाठी लिए हुए थे। उससे उन्होंने मुझे पीटना शुरू कर दिया। बचाने आई मेरी पुत्री को उन सभी ने पटक-पटक कर मारा। मैं मां-बेटी पिटती रही पर अभियुक्त संख्या 01 अनिल उर्फ बबलू जो रिश्ते में मेरे भैंसुर लगते हैं उनकी पत्नी ने भी बचाने का प्रयास नहीं किया। महिला ने कहा कि उपरोक्त लोगों ने सुनियोजित ढंग से उनपर हमला इसलिए किया कि मंगलवार की रात अनिल कुमार सिंह बबलू हर दिन की तरह शराब पीकर घर आए थे। रात में मैं जब लघुशंका के लिए निकली उन्होंने बदनीयत से मुझे पकड़ लिया। में जोड़ से चिल्लाई। मेरी चीख सुनकर घर के लोग दौड़े पहुंचे तब वे वहां से भाग गए। अपने साथ हुए वर्ताव की सूचना मैने अपने मायके को दी थी। जैसे ही उन्हें मालूम हुआ कि मायके के लोग पुलिस में कम्प्लेन कराने मुझे ले जाने के लिए आ रहे हैं उन सभी ने जान से मार देने के लिए हमला किया है। जानलेवा हमले में सीने, सिर व आंख के पास गंभीर चोट लगी है। मेरी नाबालिग बच्ची को सीने पर लात रखकर लात-घुसे से मारने से पेट, पीठ, कमर व दाई आंख के निकट चोट लगी है। देर रात पातेपुर पीएचसी में हम दोनों मां बेटी का इलाज हुआ।

 इस संबंध में पातेपुर थानाध्यक्ष सह प्रशिक्षु ए एस पी शुभांक मिश्रा ने बताया कि रामौली गांव से आपसी विवाद में मार पीट का मामला सामने आया है। प्राप्त आवेदन के आधार पर पुलिस मामले की जांच कर प्राथिमिकी दर्ज करने की कार्रवाई कर रही है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!