Breaking News

अपने हक अधिकार के लिए सफाई कर्मियों ने बुलंद किया आवाज

  • कहा 304 रुपए प्रतिदिन के दर से की जाती है मजदूरी का भुगतान
  • सफाई करने के लिए नहीं दिए जाते हैं कोई उपकरण
  • अब तक हम लोगों को नहीं दी जा रही सफाई कर्मी का दर्जा


कुर्था
अरवल, राज्य सरकार के निर्देश पर कुर्था प्रखंड के खेमकरण सराय पंचायत को नगर पंचायत का दर्जा दी गई जब से नगर पंचायत के दर्जा कुर्था प्रखंड के खेमकरण सराय पंचायत को मिली तत्काल रुप से अरवल नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारी अनुपमा कुमारी को कुर्था नगर पंचायत का अतिरिक्त प्रभार सौंपा गया हालांकि प्रभार मिलते ही नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारी द्वारा कुर्था नगर पंचायत में लगभग दो दर्जन सफाई कर्मचारियों को डेली बेसिक के आधार पर दिहाड़ी मजदूर के तौर पर सफाई कर्मियों को सफाई के कार्य में लगाए गए हालांकि लगातार उन लोगों को मजदूरी का भी भुगतान किया जाता रहा है परंतु कुर्था नगर पंचायत में सफाई के कार्य में लगे सफाई कर्मी ने बताया कि हम लोग विगत कई माह से सफाई का कार्य कर रहे हैं लेकिन अब तक हम लोगों को न तो किसी प्रकार के अधिकारी चिट्ठी प्रदान की गई और न ही हम लोगों को किसी भी प्रकार का आई कार्ड निर्गत किया गया।

 जिसके वजह से हम लोगों को कार्य करने में काफी व्यवधान उत्पन्न हो रही है इस मौके पर सफाई कर्मी पवन डोम, सुरेंद्र डोम, रॉकी डोम, अमरजीत कुमार, उमेश डोम, अभिजीत डोम, दिलीप डोम, चंदन डोम, बिट्टू डोम, सुनीता देवी, शांति देवी, बेवी देवी, उर्मिला देवी, मालती देवी, सुषमा देवी, प्रियंका देवी, ममता देवी ने पत्रकारों को बताया कि कुर्था नगर पंचायत के प्रभारी कार्यपालक पदाधिकारी अनुपमा कुमारी के निर्देश पर हम लोग सफाई कर्मी के तौर पर कुर्था में तैनात हुए हैं हालांकि उनके द्वारा ही हम लोगों को प्रत्येक दो या तीन माह पर 304 रुपए प्रतिदिन के दर से मजदूरी का भुगतान किया जाता है सफाई के नाम पर हम लोगों को न तो उसके उपकरण दिए जाते हैं न झाड़ू दिए जाते हैं और न ही कुदाल और ना ही हम लोगों को किसी भी प्रकार की वर्दी दी जाती है ताकि हम लोगों को पहचान हो सके कि यह लोग सफाई कर्मी है हालांकि सफाई कर्मियों ने बताया कि पूर्व में जब एनजीओ के माध्यम से हम लोग कार्य करते थे तो सारी सुविधाएं दी जाती थी लेकिन प्रभारी कार्यपालक पदाधिकारी अनुपमा कुमारी के द्वारा किसी भी प्रकार की कोई सुविधा सफाई के नाम पर नहीं दी जा रही है।

 अधिकारियों द्वारा कहा जाता है कि व्यवसाई वर्गों से यह सारे उपकरण मांगो जिसके वजह से हम लोगों को अपने पैसे से खरीद कर सारे उपकरण लाने पड़ते हैं हालांकि प्रत्येक रविवार को हम लोगों का मजदूरी का भुगतान भी नहीं दिया जाता है हालांकि अब तक हम लोगों को किसी भी प्रकार का अधिकृत चिट्ठी या फिर कोई प्रमाण पत्र निर्गत नहीं किया जा सका है जिससे हम लोगों के बीच असंतोष व्याप्त रहती है कि आने वाले दिनों में कहीं हम लोगों के साथ कोई नाइंसाफी ना हो जाए जिसको लेकर हम लोगों के बीच अक्सर संसय बनी रहती है वही कुर्था के सफाई कर्मियों ने अरवल जिला पदाधिकारी से मांग की है कि हम लोगों को स्थाई रूप से बहाल कर चिट्ठी निर्गत किया जाए और हम लोगों को प्रत्येक माह का मानदेय खाते में स्थानांतरण किया जाए।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!