Breaking News

दिव्यांगजनों की पहचान में तेजी लाएं: जमुई डीएम

 


जमुई से सुशील कुमार की रिपोर्ट

जिलाधीश अवनीश कुमार सिंह की अध्यक्षता में समाहरणालय स्थित कार्यालय प्रकोष्ठ में पदाधिकारियों की अहम बैठक आहूत की गई, जिसमें दिव्यांगजनों के सर्वेक्षण कार्य की विंदुवार समीक्षा की गई और जरूरी निर्देश दिए गए। डीएम ने बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि जिले में दिव्यांगजनों की पहचान में तेजी लाएं और इस कार्य को एक सप्ताह के भीतर पूरा करें। पहचान के उपरांत दिव्यांगजनों को सूचीबद्ध कर इसकी प्रति सम्बंधित अधिकारी को उपलब्ध कराएं। कानपुर की एलिम्को कंपनी प्राप्त सूची के मुताबिक जिले के विभिन्न प्रखंडों में तिथिवार शिविर का आयोजन कर नामित दिव्यांगों को आवश्यक उपकरण मुहैया कराएगा। जिलाधीश श्री सिंह ने खैरा , झाझा और चकाई प्रखंड में कम से कम 200 - 200 दिव्यांग लोगों की खोज किए जाने का निर्देश देते हुए कहा कि जिले के अन्य प्रखंडों के लिए यह संख्या 100 - 100 निर्धारित की गई है। उन्होंने तय समय - सीमा के भीतर पहचान का काम पूरा कर लिए जाने का निर्देश देते हुए कहा कि कार्य में कोताही बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

   डीएम श्री सिंह ने सभी बीडीओ को निदेशित करते हुए कहा कि अगामी 04 जून को दिव्यांगजनों के लिए अपने - अपने प्रखंडों में विशेष शिविर का आयोजन करें। इस खास शिविर में सामाजिक सुरक्षा कोषांग के द्वारा जरूरतमंदों के बीच आवश्यक उपकरण का वितरण किया जाना है। उन्होंने इस आशय की अग्रिम सूचना सम्बंधित जनों तक पहुंचाए जाने का निर्देश दिया।

    जिलाधिकारी ने सभी मेंटर अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि वे स्वयं तय शिविर में सदेह उपस्थित होकर उपकरणों के वितरण में सहयोग करेंगे ताकि शांति व्यवस्था कायम रह सके। श्री सिंह ने दिव्यांगजनों को मुख्य धारा में शामिल करने के लिए हर संभव प्रयास किए जाने का ऐलान किया। प्रभारी डीडीसी स्वतंत्र कुमार सुमन, वरीय उप समाहर्त्ता शशि शंकर, डीपीआरओ शशांक कुमार, एएसडीएम प्रकाश रजक, जिला सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी आर. के. दीपक, कार्यपालक दंडाधिकारी मनोज कुमार सिंह, बीडीओ राघवेंद्र त्रिपाठी, प्रभात रंजन, श्रीनिवास, ममता प्रिया समेत अन्य सम्बंधित अधिकारी बैठक में उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!