Breaking News

आयरन विद फोलिक एसिड की भरी हुई शीशी फेंका हुआ मिलने से फैली सनसनी


वैशाली:
सहदेई बुजुर्ग - प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सहदेई बुजुर्ग के निकट बने पुलिया के नीचे मंगलवार की सुबह भारी मात्रा में आयरन विद फोलिक एसिड की भरी हुई शीशी फेंका हुआ मिलने से सनसनी फैल गई।घटना की जानकारी होते ही तुरंत मौके पर पहुंचे स्वास्थ्य कर्मियों ने सभी दवा को उठाकर अस्पताल में पहुंचाया।

इस संबंध में बताया गया कि मंगलवार की सुबह में प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सहदेई बुजुर्ग के निकट पुलिया के नीचे आयरन विद फोलिक एसिड लिक्विड की 90 से अधिक 50 एमएल की सीसी फेंकी हुई पाई गई।दवा फेंके जाने की जानकारी मिलते ही मौके पर लोगों की भीड़ जुट गई।इस बीच वहां पहुंचे लोजपा नेता चंदन कुमार यादव ने इसकी सूचना महनार के अनुमंडल पदाधिकारी को दी।चंदन कुमार यादव ने अनुमंडल पदाधिकारी से पूरे मामले की जांच कराकर दोषियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग की है।बताया गया कि जो दवा फेंकी हुई पाई गई है,उस पर एक्सपायरी डेट 2023 लिखा है।दवा फेंके जाने की सूचना मिलने के बाद स्वास्थ्य प्रबंधक अजय कुमार दुबे स्वास्थ्य कर्मी के साथ मौके पर पहुंचे और सभी दवाओं को उठाकर अस्पताल ले गए।बताया गया कि 90 से अधिक सीसी फेंकी हुई पाई गई थी।इस संबंध में पूछे जाने पर प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डॉ सुनील केसरी ने बताया कि और आयरन का सिरप आशा को बांटा गया था।साथ ही वैक्सीनेशन सेंटर पर भी आयरन का सीरप भेजा जाता है।उन्होंने बताया कि किसी स्वास्थ्य कर्मी ने जान बूझकर इस दवा को फेंक कर अस्पताल को बदनाम करने की कोशिश की है।उन्होंने कहा कि रोस्टर में बदलाव के बाद से आशा और ममता के बीच आपसी राजनीति जमकर हो रही है।यह सब इसीका नतीजा है।उन्होंने कहा कि वह अस्पताल में लगे सीसी टीवी के माध्यम से यह जांचने का प्रयास कर रहे हैं कि मंगलवार के दिन कौन-कौन दवा लेकर अस्पताल से निकला था।उन्होंने बताया कि वह खुद ही पूरे मामले की जांच कर रहे हैं।बताया कि इसकी सूचना उन्होंने बीडीओ को भी दिए।कहा कि वह इस मामले की शिकायत पुलिस से भी करेंगे और पुलिस से जांच की जांच का आग्रह करेंगे।वहीं भारी मात्रा में इस प्रकार से आयरन सिरप फेंके जाने को लोग लापरवाही का मामला बताते हुए अस्पताल प्रबंधन के विरुद्ध अपनी नाराजगी भी प्रकट कर रहे हैं।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!