Breaking News

42 बच्चों को दिया गया दिवयांग प्रमाण पत्र


गोरौल वैशाली जाहिद वारसी की रिपोर्ट

पूर्व से निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार गोरौल बीआसी में दिव्यांग बच्चों की जांच कर प्रमाण पत्र दिये जाने को लेकर शिविर का आयोजन किया गया, जिसमें जांच के बाद 42 बच्चों को दिव्यांगता प्रमाण पत्र दिया गया । इस शिविर में कुल 70 दिव्यांग बच्चों ने अपना पंजीकरण करवाया । पंजीकृत सभी दिव्यांग बच्चो का चिकित्सक के द्वारा जांच कर विकलांग प्रमाण पत्र दिया गया । साथ ही साथ सर्जरी फीजियोथेरेपी एवं उपकरण की आवश्यकता के लिए चिह्नित किया गया । 

शिविर का उद्घाटन प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी राजेश कुमार , डॉ सत्यनारायण पासवान , प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी परशुराम सिंह , बीआरपी धर्मेंद्र कुमार ने संयुक्त रूप से किया । इससे सम्बंधित जानकारी देते हुए डॉ अनिल कुमार ने बताया कि शिविर में 72 दिव्यांग बच्चे उपस्थित हुए, जिसमें अस्थि विकलांग, दृष्टि बाधित, मंदबुद्धि ,श्रवण बाधित एवं श्रेबल पल्षि बच्चे शामिल थे । पीएचसी गोरौल के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी राजेश कुमार ने बताया कि इस कैंप का उद्देश्य 6 वर्ष से लेकर 18 वर्ष तक के उन सभी दिव्यांग बच्चों को प्रमाण पत्र निर्गत करना है जो शिविर में उपस्थित हुए हैं और जिनका पूर्व में प्रमाण पत्र नहीं बन सका था। प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी परशुराम सिंह ने कहा कि कैंप का उद्देश्य सर्वशिक्षा अभियान के अंतर्गत सभी प्रकार के दिव्यांग बच्चों को शिक्षा की मुख्यधारा से जोड़ने के लिए दिव्यांग प्रमाण पत्र बनाना है ।क्योंकि बिना प्रमाण पत्र के किसी भी बच्चे को सरकारी अथवा गैर सरकारी विद्यालय में सुविधाओं का लाभ नहीं मिल पायेगा । जांच टीम में डॉ अनिल कुमार,डॉ दिवाली प्रसाद,डॉ यशस्वी आंनद ,डॉ रतन प्रकाश एवं डॉ अभिषेक शरण , फीजियोथेरेपिस्ट डॉक्टर राकेश कुमार आदि शामिल रहे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!