Breaking News

15 जून तक बाढ़ पूर्व सभी तैयारी पूरा करें: जिलाधिकारी


रिपोर्ट प्रभंजन कुमार मिश्रा

वैशाली: जिलाधिकारी श्री यशपाल मीणा के द्वारा वैशाली समाहरणालय सभागार में सभी संबंधित जिला स्तरीय पदाधिकारी, अनुमंडल पदाधिकारी, सिविल सर्जन, कार्यपालक अभियंताओं एवं अंचलाधिकारियों के साथ बाढ़ पूर्व तैयारियों की समीक्षा की गयी और निदेश दिया गया कि 15 जून तक सभी तैयारियों को पूर्ण करा लिया जाय।

सर्वप्रथम सम्पूर्ति पोर्टल पर बाढ़ प्रभावित परिवारों की सत्यापित सूची को हर हाल में 15 जून तक अपलोड करा देने का निदेश सभी बाढ़ प्रभावित अंचलों के अंचलाधिकारियों को दिया गया। पहले यह कार्य 31 मई तक ही करा लेना था। इस कार्य में हुए विलम्ब पर जिलाधिकारी ने नाराजगी प्रकट की और कहा कि पूर्व की सूची से कितना नाम हटाया गया है और कितना नया नाम जोड़ा गया है इसका अलग से लेखा रखें तथा इस में पूरी सावधानी बरतें।

कार्यपालक अभियंता बाढ़ एवं जल निस्सरण प्रमंडल लालगंज को प्रतिदिन नदी के जल स्तर संबंधी प्रतिवेदन देने का निदेश दिया गया। कार्यपालक अभियंता ने बताया कि रेवा घाट, लालगंज और हाजीपुर में केन्द्रीय जल आयोग द्वारा उपलब्ध कराये गये प्रतिवेदन के आधार पर यह कार्य किया जा रहा है। इस पर जिलाधिकारी ने इसे आपदा के वाट्स ऐप ग्रुप में डालने का निदेश दिया। गोताखोरों की सूची अद्यतन करने एवं उन्हें प्रशिक्षण देने के प्रश्न पर बताया गया कि सूची बनी हुयी है परन्तु अभी प्रशिक्षण नहीं दिया गया है। इस पर एसडीआरएफ के पदाधिकारी को सभी गोताखोरों को शीघ्र प्रशिक्षित करा दने का निदेश दिया गया।

नाव की उपलब्धता एवं निजी नाव मालिकों के साथ एकरारनामा के प्रश्न पर अंचल बार नाव की उपलब्धता बतायी गयी, जिसमें 56 देशी बड़ी नाव, 18 मझोली नाव तथा 233 छोटी नाव सहित कुल 307 नावों की उपलब्धता बारे में बताया गया। यह भी बताया गया कि पटेढ़ी बेलसर, देसरी, पातेपुर, सहदेई बुजुर्ग में निजी नाव मालिकों से एकरारनामा कर लिया गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि एसडीआरएफ के मोटर वोट से घुमकर सभी नावों का भौतिक सत्यापन तथा उसी दौरान शेष बचे एकरारनामा कर लिया जाय। प्रभारी पदाधिकारी आपदा शाखा श्री स्वप्निल ने बताया कि टास्क फोर्स का गठन कर लिया गया है। राहत एवं बचाव दल का गठन कर लिया गया है। जिला स्तर पर नियंत्रण कक्ष कार्यरत है। सभी अंचलों में कम्यूनिकेशन प्लान बना लिया गया है। पूर्व के कार्यों का नाविकों का भुगतान कर दिया गया है। जिला में 11500 एवं अंचलों में 280 सहित कुल 11780 पॉलीथीन शीट्स उपलब्ध है। शरणस्थली के रूप में कुल 134 स्थलों तथा सामुदायिक रसोई के लिए कुल 178 स्थलों को चिन्हित किया गया।

जिलाधिकारी के द्वारा मानव दवा, हेलोजन टैबलेट, ब्लचिंग पाउडर, मोबाईल मेडिकल टीम, मेडिकल कैम्प, पशुचारा, पशुदवा, शुद्ध पेयजल, जेनरेटर सेट, पेट्रोमैक्स, टेन्ट, महाजाल, लाइफ जैकेट, मोटर वोट की पर्याप्त व्यवस्था रखने का निदेश दिया गया। सभी अंचलाधिकारियों को स्वयं स्लूईस गेट जाँच कर लेने उसमें ग्रीसींग एवं आयलिंग करा देने का निदेश दिया गया। एसडीआरएफ को निदेश दिया गया कि सभी उपलब्ध 15 मोटर बोट का भौतिक जाँच 16 जून को करालें।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!