Breaking News

जनहित के मुद्दो पर किसान खेत-मजदूर संगठन का जबरदस्त धरना-प्रदर्शन


हाजीपुर(वैशाली)
ऑल इंडिया किसान खेत मजदूर संगठन वैशाली जिला कमिटी के आह्वान पर जिलाध्यक्ष सह किसान नेता रामपुकार राय की अध्यक्षता एवं संगठन के जिला कमिटी सदस्य व किसान नेता डॉक्टर राजेन्द्र शर्मा के संचालन में जिला पदाधिकारी वैशाली के समक्ष एक दिवसीय उपवास एवं धरना सभा किया गया।सभा को सम्बोधित करते हुए किसान नेताओं ने कहा कि घोरपरास के आतंक से जिला के किसान खेत-मजदूर त्रस्त है। साग-सब्जी से लेकर तेलहन-दलहन सहित अन्य फसलों को ये आवारा पशु बर्बाद कर देते हैं जिससे गरीब किसान खेत-मजदूर कंगाल होते जा रहे हैं।ये अवारा पशु अचानक सड़क पार करते समय राहगीरों के जीवन समाप्तकर रहा है। दुर्घटनाएँ बराबर होती रहती हैं। मानव जीवन एवं खेती-किसानी को बचाने के लिए घोरपरास को जिला से मुक्त करना ही एक मात्र विकल्प है।डीजल, पेट्रॉल, रसोई गैस जैसे पेट्रॉलियम पदार्थों का दाम बढ़ने से आम जन-जीवन प्रभावित हो रहा है। गरीब खाना बनाने के अभाव में भूखे रहने को मजबूर हो रहे हैं। निजी वाहन मालिक बस, टेम्पु का किराया मनमाने तरीके से बढ़ा दिया है जिसका खामियाजा आम लोगों को भुगतना पड़ रहा है।डी ए पी यूरिया सहित रासायनिक खादों का कालाबाजारी बदस्तूर जारी है।जिला के अन्दर खाद दुकानों में स्टॉक रजिस्टर एवं बोर्ड नदारद है नतीजतन दुकानदार अधिक मूल्य पर डी ए पी, यूरिया सहित अन्य खाद बेचते है।प्रधानमंत्री आवास योजना में खुलेआम घूस तीस हजार रूपये वसूला जा रहा है। 

विरोध करेन वाले लाभुकों का भुगतान नहीं हो पाता है।इसी बीच नौकरी देने के नाम मात्र के लिए अग्निपथ योजना लायी गयी है देश का नौजवान चार साल नौकरी करने के बाद रिटायर हो जाएगा फिर क्या करेगा।वक्ताओं ने कहा कि मांगों की पूर्ति ससमय न होने पर अनिश्चित कालिन अनशन एवं आंदोलन किया जायेगा।जिसकी जिम्मेवारी जिला पदाधिकारी वैशाली की होगी।इस अवसर पर रामपुकार राय, प्रमोद राय, बीरबहादूर सिंह, ललित कुमार घोष, राजेश कुमार रौशन, रामनाथ राय, उपेन्द्र राय, कुलदीप पंडित, सुरेन्द्र सिंह, नवल सिंह, वशिष्ठ नारायण सिंह, धीरेन्द्र सिंह, रामईश्वर सिंह, मुक्तिनाथ सिंह, उदय साह एवं मनोरंजन सिंह शामिल थे। सभा को संगठन के जिला कमिटी सदस्य विश्वनाथ साहू, डॉक्टर राजेन्द्र शर्मा, रविन्द्र कुमार, अवधेश कुमार, दिनेश कुमार राय, राज्य कमिटी सदस्य इन्द्रदेव राय आदि ने संबोधित किया।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!