Breaking News

टीबी मुक्त बनाने के लिए राज्य का पहला चयनित घर-घर टी.बी. खोज अभियान का हुआ शुभारंभ


वैशाली: 
टीबी मुक्त बनाने के लिए राज्य का पहला चयनित पंचायत सहदेई बुजुर्ग प्रखंड क्षेत्र के मुरौवतपुर में घर-घर टी.बी. खोज अभियान का शुभारंभ किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ 

 प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी डा. सुनील कुमार केसरी और पूर्व सीडीओ डा. एस. के. रावत के द्वारा किया गया। डा. सुननील कुमार केसरी ने बताया कि टी.बी. रोगियों को खोजने के लिए 13 खोजी दल तथा 6 पर्यवेक्षक तैयार किए गए है,जिनके द्वारा पंचायत के घर घर जाकर सर्वेक्षण करने कार्य शुरु कर दिया गया है। दल को सभी सामाग्री सेवरण फाउण्डेशन के जिला समन्वयक विकास कुमार के द्वारा उपलब्ध कराया गया है। इस मौके पर ग्रामीण परामर्शी संघ के जिला सचिव सुरेन्द्र पासवान, मुखिया विश्वनाथ चौधरी, नोडल पदाधिकारी डा. जी.एन. पाण्डेय,लेखापाल रितेश कुमार,

एएनएम अनिता कुमारी, आशा फैसिलिटेटर रेखा कुमारी तथा सभी आशा कार्यकर्ता उपस्थित थे। डा. सुनील कुमार केसरी ने बताया कि इस कार्यक्रम के समाप्ती के पश्चात सभी कार्यकर्ता को सेवरण फाउन्डेशन के तरफ से सम्मानित किया जाएगा। वहीं डा. एस.के.रावत ने बताया कि इससे आम लोगों को घर बैठे टी.बी. का जांच एवं इलाज के बेहतर सुविधा मिलेगी। मालूम हो कि मुरौवतपुर पंचायत बिहार का पहला ऐसा पंचायत है, जिसे टी.बी. मुक्त बनाने को ले चयन किया गया है। पूरे राज्य में उक्त पंचायत को एक प्रयोग के तौर पर कार्य किया जा रहा है। धीरे-धीरे इसे और वृहत किया जाएगा। पंचायत में घर-घर सर्वे कराकर सभी संभावित रोगियों की बलगम तथा एक्स-रे जांच करायी जाएगी और 15 दिनों के अंदर सर्वे का कार्य पूरा करने का लक्ष्य निर्धारित की गई है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!