Breaking News

त्रि- स्तरीय पंचायतीराज के जनप्रतिनिधियों को सीएम ने बताये गांवों में विकास कराने के गुर


रिपोर्ट अक्षय कुमार आनंद बेतिया बिहार

मैनाटाड़: गुरुवार को नवनिर्वाचित त्रि- स्तरीय पंचायती राज संस्थाओं के जनप्रतिनिधियों के उन्मुखीकरण सह प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन प्रखंड मुख्यालय सहित पंचायत भवनों में किया गया। प्रखंड एवं ग्राम पंचायत मुख्यालय स्तर पर वेब कास्टिंग के माध्यम से सीएम नीतीश कुमार ने जनप्रतिनिधियों को संबोधित किये। मौके पर सीएम ने प्रतिनिधियों के अधिकार और जवाबदेही पर चर्चा किये।इस कार्यक्रम में प्रमुख, मुखिया, सरपंच, पंचायत समिति सदस्य, जिला परिषद सदस्य और पंच शामिल हुये। सीएम ने बेब कास्टिंग के माध्यम से बताया कि मुखिया के साथ सरपंचों को पंचायती राज व्यवस्था में तीन बड़े अधिकार दिए गये हैं। ग्राम पंचायत की बैठक बुलाना, उनकी अध्यक्षता करना, इसके अलावा ग्राम पंचायत की कार्यकारी और वित्तीय शक्तियां भी इन्हीं के पास हैं।. इनके जिम्मे जो मुख्य कार्य हैं।उनमें गांव की सड़कों की देखभाल, पशुपालन व्यवसाय को बढ़ावा देना, सिंचाई की व्यवस्था करने का अलावा दाह संस्कार और कब्रिस्तान का रखरखाव करना शामिल है। बिहार सरकार के सात निश्चय योजना से लेकर केंद्र और राज्य की कई योजनाएं में त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों की भूमिका अहम है। मौके पर पंचायत प्रतिनिधियों ने बड़े ही गौर से सीएम के बातों को सुना। मौके पर बीडीओ पंकज कुमार, प्रमुख सुनैना देवी,उप प्रमुख खुर्शीद आलम, प्रधान सहायक रवि शंकर रजक, कार्यपालक सहायक मंजीत सिंह, अमित भूषण, मुखिया, सरपंच आदि शामिल रहे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!