Breaking News

समसपुरा में वार्ड सभा के लिए लोग इंतजार करते रहे और पर्यवेक्षिका हुई गायब


रिपोर्ट प्रभंजन कुमार मिश्रा

महुआ( वैशाली )प्रखंड क्षेत्र में इन दिनों आंगनवाड़ी सेविका ,सहायिका के चयन हेतु सीडीपीओ कार्यालय एवं उसके अधीनस्थ कर्मचारियों के काले कारनामे कारण कहीं पर मार हो रहे हैं, कहीं आपस में लोग गाली गलौज करते नजर आ रहे हैं ।कहीं पर किसी पंचायत में मुखिया ,वार्ड मेंबर की मिलीभगत से मनचाहे लोगों की चयन किया जा रहा है ,वहीं कहीं पर तकनीकी का बहाना बनाकर वार्ड सभा रद्द की जा रही है ।बताते चलें कि 11 जून के दोपहर 11 बजे से समसपुरा पंचायत के सामुदायिक भवन में वार्ड संख्या दो के लिए सेविका ,सहायिका के चयन हेतु वार्ड सभा बुलाई गई थी। बड़ी संख्या में वार्ड के सभी लोग उपस्थित हुए लेकिन वार्ड सभा कराने के लिए महिला पर्यवेक्षिका शाम 4:00 बजे तक भी उपस्थित नहीं हो सकी । लोगों में आक्रोश देखा गया, लोगों ने कहा कि यह तीसरी बैठक है। जिसमें आंगनवाडी की महिला प्रवेक्षिका मनमाने तरीके से मोटी रकम लेकर बहाली करना चाह रही हैं ।इसी के लिए बार-बार वार्ड सभा बुलाई जाती है और उसे रद्द कर दी जाती है ।आज तो हद हो गई जब लोग 11:00 बजे से शाम 4:00 बजे तक बैठे रहे लेकिन पर्यवेक्षिका उपस्थित नहीं हुई ।सीडीपीओ कार्यालय संपर्क करने बताया गया कि कुछ तकनीकी कारणों से आज की बैठक रद्द कर दी गई ।लोग और आक्रोशित हो गए ,उन्होंने कहा कि इसकी जानकारी स्थानीय लोगों क्यों नहीं दी गई .।आवेदकों ने आशंका जताते हुए कहा कि हो न हो गुपचुप तरीके से यह बहाली प्रक्रिया पूर्ण की जा रही होगी ।वैसे देखने में आ रहा है कि कोई भी पंचायत प्रखंड क्षेत्र का नहीं है, जहां शांतिपूर्ण तरीके से बहाली प्रक्रिया पूर्ण हुई होगी । कहीं न कहीं आंगनवाड़ी कार्यालय इसके लिए जिम्मेदार है। इसकी गलत नीतियों के कारण लोग आपस में टकरा रहे हैं। नियम अनुकूल चयन प्रक्रिया पूर्ण होती तो शायद इस तरह की नौबत कहीं भी देखने को नहीं मिलती।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!