Breaking News

परीक्षा में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए डीएम ने किया बेटे - बेटियों को किया सम्मानित



जमुई से सुशील कुमार की रिपोर्ट // सरकारी स्कूलों की दशा और दिशा बदलने के लिये जमुई के डीएम ने खुद कमान संभाल ली है। डीएम अवनीश कुमार सिंह ने शिक्षा विभाग के सहयोग से उच्च विद्यालयों मे  उत्कृष्टता की ओर  कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया है। इसी क्रम में वे शनिवार को +2 शुक्रदास उच्च विद्यालय बरहट पहुंचे और वहां बच्चों को पढ़ने का तरीका बताया। उन्होंने इस दरम्यान शिक्षकों को भी पढ़ाने का ढंग सिखाया और उन्हें निष्ठा के साथ दायित्वों का निर्वहन किए जाने का संदेश दिया। 

डीएम ने कक्षा में बच्चों से प्रश्न पूछे और उनसे यथोचित उत्तर ग्रहण किया। उन्होंने बच्चों का क्षमतावर्धन करते हुए कहा कि वर्ग नवम से लेकर बारहवीं तक की पढ़ाई जीवन के लक्ष्य को सरल और सुगम बनाता है। बच्चे अनिवार्य रूप से समय सीमा के भीतर निर्धारित पाठ्यक्रम को पूरा करें और अपना ज्ञानवर्धन करने के साथ तय मुकाम को हासिल करने में सफल होवें। जिलाधिकारी ने बच्चों को निराशा से दूर रहने का संदेश देते हुए कहा कि लक्ष्य हासिल करने के लिए आप सभी को हिंदी की तरह अंग्रेजी बोलना, लिखना और पढ़ना आना चाहिए। श्री सिंह ने इस अवसर पर शिक्षकों को अंग्रेजी बोलने के लिए एक विशेष सत्र चलाए जाने का निर्देश देते हुए कहा कि सामान्य ज्ञान को भी तरजीह दिया जाना चाहिए। डीएम ने कहा कि वर्त्तमान समय प्रतियोगिता का युग है। इसके लिए नियमित पढ़ाई करनी होगी। बोलने का स्किल सुधारना होगा। शिक्षकों के सम्मान करने के साथ अनुशासन में रहना होगा। पुराने अध्याय के साथ पढ़ाई का सतत रिवीजन करें। डायग्राम और ग्राफ के जरिए ज्ञान बढ़ाएं। विषय को रटना नहीं  बल्कि इसे सिखाना चाहिए। आज के होम वर्क को आज ही पूरा कर लें। इससे आप तरोताजा बने रहेंगे।

डीएम ने अंत में कहा कि जमुई पढ़ेगा तभी तेजी से विकास करेगा। उन्होंने यहां प्रतिभा के भरे रहने की बात बताते हुए कहा कि इसे सिर्फ निखारने की जरूरत है, जिसकी जिम्मेदारी शिक्षकों की है। उन्होंने बच्चों के स्वर्णिम भविष्य की कामना करते हुए उन्हें मंगल आशीर्वाद दिया। जिलाधिकारी ने उत्कृष्टता की ओर कार्यक्रम के तहत वार्षिक परीक्षा 2022 में श्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले बेटे और बेटियों को प्रमाण पत्र और मेडल देकर सम्मानित किया और उन्हें इससे भी बेहतर करने का संदेश दिया। उन्होंने विद्यालय परिसर में वृक्षारोपण कर पर्यावरण संरक्षण के लिए भी स्कूल परिवार को आगे आने की सलाह दी। इसके लिए सभी जनों को पौधारोपण करने के लिए प्रेरित किया। डीपीओ शिव शंकर शर्मा, प्रभारी प्रधानाध्यापिका इला कुमारी, अंजू अनिता रानी, रामविलास कुमार, कंचन कुमार आदि लोग इस अवसर पर उपस्थित थे। सबों ने जिलाधिकारी के संदेशों को आत्मसात किया और उसे जीवन में उतारने का संकल्प लिया।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!