Breaking News

शहरी क्षेत्रों में लगातार एवं प्रभावी रेड करें - जिलाधिकारी



रिपोर्ट प्रभंजन कुमार , हाजीपुर // जिलाधिकारी  यशपाल मीणा के द्वारा अपने कार्यालय कक्ष में मद्यनिषेध की समीक्षा बैठक में अधीक्षक मद्यनिषेध को निदेश दिया गया कि शहरी क्षेत्रों खासकर हाजीपुर लालगंज , महुआ , महनार , पातेपुर , बिदुपुर में लगातार बड़ा एवं प्रभावी रेड करें । होटल , लॉज , में भी रेड करें । शहरी क्षेत्र के सभी चौक चौराहों पर नियमित रूप से स्थल परिवर्तित कर वाहनों की जाँच कराये । बहुत से वाहन सरकारी वोर्ड का इस्तेमाल कर रहे हैं इसलिए सभी तरह के वाहनों एवं एम्बुलेंस की भी जाँच करें । दियारा इलाके में इन्फ्लेमेटबल बोट से गश्ती बढ़ायें । बिदुपुर और राघोपुर पर विशेष नजर रखी जाय यहाँ बिदुपुर एवं कच्ची दरगाह दोनों तरफ से गश्ती करायी जाय । जिलाधिकारी ने कहा कि वर्षात का समय आ रहा है , नदियों के जल स्तर में भी वृद्धि होगी इससे पूर्व इस व्यवसाय में संलिप्त लोगों के द्वारा स्टाकिंग किया जाएगा । जिस पर विशेष चौकसी रखें । अधीक्षक मद्यनिषेध के द्वारा बताया गया कि पिछले 6 जून से अभी तक कुल 680 छापेमारी की गयी है जिसमें 72 लोगों को गिरफ्तार किया गया है । जिलाधिकारी ने जानना चहा कि छापेमारी कहाँ - कहाँ की गयी है , इस पर बताया गया कि हाजीपुर के वार्ड नम्बर -01 , अंजनपीर , जाफराबाद , सलेमपुर , बिदुपुर , लालगंज , महनार , देसरी और महुआ में छापेमारी की गयी है । छापेमारी रेण्डम की जा रही है । जिलाधिकारी ने कहा कि प्रतिदिन प्रत्येक प्रखंड में कम से कम 10 लोगों से अपने कार्यालय से फोन करायें और जरूरी जानकारी गोपनीय से प्राप्त करें । जनप्रतिनिधि , जीविका दीदी को फोन करा कर जानकारी लें कि कहीं गड़बड़ तो नहीं हो रहा है । इसके साथ ही सभी जरूरी कान्टेक्ट नम्बर का पम्पलेट / स्टीकर लगभग 50 हजार की संख्या में बनवाकर सभी सरकारी भवन , वाहन , स्कूल , कालेज , बिजली के पोल आदि पर चस्पा करायें ताकि सूचना शिघ्र मिल जाय कि अमूक जगह गलत हो रहा है । जिला के तीनों अनुमंडल के अनुमंडल पदाधिकारी एवं अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी संयुक्त रूप से बारी - बारी से विकास मित्र , चौकीदार एवं मुखिया से अलग - अलग बैठक कर फीड बैक प्राप्त करें । विकास मित्र से यह जानकारी लिखित में लें कि महादलित परिवार में आज भी कौन परिवार इस धंधे संलिप्त है , कितने लोग परंपरागत धंधा छोड़ का नीरा से जुड़ें और कितनी महिलाएँ सतत् जिविकोपार्जन का लाभ उठा रहीं है । जिलाधिकारी के द्वारा निदेश दिया गया कि गूड के बड़े व्यवसायियों के दूकान पर जाकर उनका जीएसटी रिटर्न जाँच की जाय । औद्योगिक क्षेत्र स्थित प्रतिष्ठानों से यह लिखित में लिया जाय कि उनके यहाँ कच्चा स्प्रीट का उपयोग उनके परिसर तक ही सीमित रहेगा , इसका अन्यत्र उपयोग नहीं किया जाएगा । आज की बैठक में जिलाधिकारी का मुख्य फोकस सूचना तंत्र को मजबूत बनाने और प्राप्त सूचनाओं पर शीघ्र कार्रवायी करने पर था । इसके अतिरिक्त जिलाधिकारी ने कहा कि प्रत्येक बैठक से पूर्व कारा अधीक्षक से भी प्रतिवेदन लिया जाय कि पिछले एक माह में कितने लोगों को मद्यनिषेध के उलंघन में जेल में आये और उनका नियमित स्वास्थ्य परीक्षण हो रहा कि नहीं । यह प्रतिवेदन भी बैठक में रखी जाय । जिलाधिकारी के द्वारा 90 दिन से अधिक की पकड़ी गयी गाड़ियों की सूची अदतन करने का निदेश दिया गया और यह जानकारी ली गयी कि जब्त गाड़ियों के निलामी की क्या स्थिति है । इस बैठक में जिलाधिकारी के साथ पुलिस अधीक्षक श्री मनीष , सदर एसडीओ श्री अरूण कुमार , एसडीपीओ श्री राघव दयाल मद्यनिषेध के सभी दंडाधिकारी , अधीक्षक मद्य निषेध एवं पुलिस इन्सपेक्टर उपस्थित थे जबकि अनुमंडल पदाधिकारी महनार एवं महुआ तथा अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी महनार एवं महुआ वीडियो कॉफ्रेंसिंग से जुड़े हुए थे ।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!