Breaking News

जिला पदाधिकारी की अध्यक्षता में जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र की समीक्षात्मक बैठक आयोजित



सीतामढ़ी ब्यूरो दीपक पटेल की रिपोर्ट                                           

 जिला पदाधिकारी मनेश कुमार मीणा की अध्यक्षता में समाहरणालय स्थित परिचर्चा भवन में जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र की समीक्षात्मक बैठक आयोजित की गई जिसमें बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना, मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना, कुशल युवा कार्यक्रम अंतर्गत चल रही सभी संबंधित योजनाओं का समीक्षा किया गया। बैठक में डीआरसीसी प्रबंधक अमलेन्दु कुमार द्वारा पी0पी0टी0 के माध्यम से बताया गया कि बिहार स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड योजना अंतर्गत उच्च शिक्षा के लिए बिहार के युवाओं को बिहार राज्य शिक्षा वित्त निगम पटना द्वारा सरल ब्याज दर पर शिक्षा ऋण की व्यवस्था की गई है, इस योजना के अंतर्गत छात्रों को अधिकतम चार लाख तक की ऋण बिना किसी गारंटी के उपलब्ध कराया जा रहा है, योजना के अंतर्गत पढ़ाई का खर्च, हॉस्टल पुस्तक एवं लैपटॉप आदि के खर्चों को सम्मिलित किया गया है, आवेदन का निष्पादन भी सीमित समय में तथा शीघ्र किया जाता है। इसके लिए आवेदक बिहार राज्य का निवासी होना चाहिए तथा उसने इंटरमीडिएट अथवा समकक्ष (पॉलिटेक्निक पाठ्यक्रम के लिए 10वीं) की शिक्षा बिहार में अवस्थित किसी संस्थान से प्राप्त की हो। आवेदक का उम्र स्नातक कोर्स के लिए 25 वर्ष से अधिक न हो तथा स्नातकोत्तर कोर्स के लिए 30 वर्ष से अधिक ना हो। आवेदक बिहार अथवा अन्य राज्य/केंद्र सरकार के संबंधित नियामक एजेंसी द्वारा मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थान में उच्च शिक्षा हेतु नामांकन के लिए चयनित हो। यह ऋण उच्च शिक्षा के सामान्य पाठ्यक्रमों,विभिन्न व्यवसायिक एवं तकनीकी पाठ्यक्रमों के लिए दी जाती हैं। जिसमें आवश्यक कागजात में आवेदन की स्वहस्ताक्षरित प्रति आवेदक के फोटो के साथ, मैट्रिक इंटरमीडिएट एवं अंतिम सफल परीक्षा का अंक-पत्र एवं प्रमाणपत्र पाठ्यक्रम अवधि के सत्यापन हेतु संस्थान के सक्षम प्राधिकार प्राप्त पाठ्यक्रम विवरणिका अथवा प्रमाण पत्र, पाठ्यक्रम में प्रवेश का प्रमाण पत्र एवं शुल्क विवरणी, छात्र तथा माता-पिता/अभिभावक का दो पासपोर्ट साइज फोटो, आवासीय प्रमाण पत्र, आधार कार्ड,आवेदक के बैंक पासबुक की छायाप्रति, आवेदक इसको स्वंय ऑनलाइन कर सकते हैं अथवा जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र से भी निशुल्क आवेदन कर सकते हैं। आवेदन के उपरांत सभी आवश्यक आजाद की मूल प्रति तथा उसके छायाप्रति के साथ आवेदक एवं सह आवेदक को 30 दिनों के अंदर जिला निबंधन परामर्श केंद्र में आकर सत्यापन कराकर रसीद प्राप्त करना अनिवार्य है। कार्यालय का पता जिला निबंधन एवं परामर्श केंद्र आईटीआई केंपस शांति नगर डुमरा, सीतामढ़ी। आवेदन की स्वीकृति के उपरांत आवेदक को ई-मेल तथा sms. द्वारा सूचित किया जाता है। आवेदक को सह आवेदक के साथ डीआरसीसी में अवस्थित बिहार राज्य शिक्षा वित्त निगम में आकर ऐकरारनामा करना होता है। इसमें ऋण की वापसी शिक्षा पूर्ण होने के पश्चात आसान किस्तों में संभव है , ऋण पर साधारण ब्याज दर से मात्र 4 प्रतिशत वार्षिक ब्याज लगेगा जिसकी गणना शिक्षा पूर्ण होने के 1 वर्ष बाद अथवा नियोजन के 6 माह बाद से की जाएगी, महिलाओं एवं दिव्यांग जनों के लिए ब्याज दर मात्र 1 प्रतिशत वार्षिक आय है। वही मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता भत्ता योजना का उद्देश्य आर्थिक सहायता हेतु अधिकतम 1000 रुपये प्रति माह 2 वर्षों तक वैसे छात्र जो 20 से 25 वर्ष के हो गए हैं, जो 12वीं पास हो परंतु आगे की पढ़ाई नहीं कर रहे हो, वैसे छात्र जो नौकरी की तलाश कर रहे हो। इस योजना का लाभ उठाने हेतु कुशल युवा के अंतर्गत प्रशिक्षण प्राप्त करना अनिवार्य होगा। साथ ही कुशल युवा कार्यक्रम योजना का लक्ष्य हिंदी एवं अंग्रेजी भाषा में सुधार हेतु प्रशिक्षण, प्रभावशाली सम्मान एवं व्यवहार संबंधी प्रशिक्षण, बुनियादी कंप्यूटर संबंधित प्रशिक्षण देना है। इसमें आवेदन की तिथि को आवेदक की आयु 15 से 28 वर्ष के बीच होनी चाहिए। आवेदक बिहार में अवस्थित मान्यता प्राप्त शैक्षिक संस्थान से न्यूनतम दसवीं उत्तीण हो। यह योजना मुख्यमंत्री निश्चय स्वयं सहायता का लाभ उठा रहे छात्रों के लिए अनिवार्य है, यह प्रशिक्षण जिले के के सभी प्रखंडों में दी जा रही है 240 घंटों का यह प्रशिक्षण ऑनलाइन प्रदान किया जा रहा है। जिला पदाधिकारी ने इन सभी योजनाओं का प्रचार प्रसार प्रखंड, पंचायत एवं गांव स्तर पर विशेष शिविर कैंप लगाकर करने को कहा वहीं उन्होंने अब तक के पूरे लक्ष्य को पूरा करने हेतु निर्देशित किया। उन्होंने केवाईपी के सेंटर संचालकों से भी केवाईपी संचालन केंद्र के बारे में फीडबैक लिया साथ ही उन्होंने प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके छात्र-छात्राओं को मिले रोजगार संबंधित सूची उपलब्ध कराने को कहा। उक्त बैठक में जिला शिक्षा पदाधिकारी अवधेश कुमार,जिला योजना पदाधिकारी राकेश कुमार, जिला नियोजन पदाधिकारी रजिया इदरीश, जिला कार्यक्रम पदाधिकारी शिक्षा अमरेंदर कुमार पाठक, डीआरसीसी प्रबंधक अमलेन्दु कुमार, सहायक प्रबंधक, जिला कौशल प्रबंधक के साथ सभी केवाईपी सेंटर संचालक उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!