Breaking News

सोनो चोक पर खराब पड़े चापाकल बनी शोभा की वस्तु, कॉवरियो को हो रही पैयजल का संकट


सोनो जमुई संवाददाता चंद्रदेव बरनवाल की रिपोर्ट
 

जमुई: श्रावणी मेले के शुभ अवसर पर जमुई प्रशासन की ओर से सोनो प्रखंड छेत्रों में कॉवरियों की सुविधा के लिए जहां समुचित व्यवस्था करने की बात कही जा रही है , वहीं जमुई जिले के सबसे महत्वपूर्ण प्रखंड माने जाने वाले सोनो चोक पर सरकार द्वारा लगाए गए एकमात्र चापाकल रिपेयरिंग के अभाव‌ में बंद है , जिस कारण प्रतिदिन हजारों की संख्या में आवागमन करने वाले कॉवरियों को महज शुद्ध पैयजल उपलब्ध नहीं हो पा रही है , जो काफी चिंता जनक है । झारखंड प्रदेश के बाबा वैद्यनाथ धाम देवघर एवं बाबा बासुकीनाथ धाम में बिराजमान भगवान शिव को जल अर्पित करने के लिए बिहार राज्य सहित झारखंड , पश्चिम बंगाल एवं उड़ीसा आदि राज्यों के लोग अपनी अपनी छोटी बड़ी वाहनों पर सवार होकर जमुई जिले के सोनो के रास्ते उत्तर वाहिनी सुल्तान गंज घाट गंगाजल भरने के लिए जा रहे हैं , 

लेकिन इन सभी कॉवरियों को पैयजल‌ की प्राप्ति के लिए सोनो चोक पर लगे एकमात्र चापाकल रिपेयरिंग के अभाव में खराब होकर शोभा की वस्तु बन गई है ।

लिहाजा कॉवरियों को सात रुपए का बोतल बंद पानी 15 से 20 रुपए में खरीदारी करते देखा जा रहा है ।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!