Breaking News

स्वच्छ एवं समृद्ध गांव का निर्माण हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता: डीएम


 जमुई से सुशील कुमार की रिपोर्ट 

  •  सभी ग्राम पंचायत 2025 तक स्वच्छ और सुंदर होंगे: डीडीसी बोले

समाहरणालय के संवाद कक्ष में लोहिया स्वच्छ अभियान फेज : 02 के तहत एक दिवसीय कार्यशाला सह समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया।   

जिलाधिकारी अवनीश कुमार सिंह ने कार्यशाला सह समीक्षा बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि लोहिया स्वच्छ अभियान के तहत स्वच्छ और समृद्ध गांव का निर्माण करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। इस अभियान के तहत प्रथम चरण में सभी को शौचालय की सुलभता उपलब्ध कराते हुए ग्राम पंचायतों को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया गया था। अब लोहिया स्वच्छ अभियान एवं स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) फेज : 02 के अंतर्गत सभी गांवों को स्वच्छ एवं समृद्ध गांव बनाना है।सरकार के द्वारा इस उद्देश्य की प्राप्ति हेतु व्यापक योजना तैयार की गई है। इसके क्रियान्वयन के लिए ग्राम पंचायतों को अहम जिम्मेवारी दी गई है। श्री सिंह ने जनप्रतिनिधियों से कार्यशाला में कही गई बातों को अमल में लाकर सरकार के उद्देश्य को सफलतापूर्वक जमीन पर उतारने की अपील करते हुए कहा कि स्वच्छ गांव समृद्ध गांव बनाने को लेकर सरकार का बड़ा प्लान है और इसका संचालन वित्तीय वर्ष 2024 - 25 तक किया जाना है। 

योजना का क्रियान्वयन वार्ड प्रबंधन समिति के स्तर से कराया जाना है। अभियान की सफलता के लिए वार्ड से लेकर राज्य तक की जिम्मेवारी तय की गई है। इसके तहत गांव को ठोस तथा तरल कचरा से मुक्त करना है ।अभियान की सफलता के लिए सरकार ने ग्राम पंचायतों की भूमिका तय की है। इसके लिए सरकार के स्तर से पंचायतों को आर्थिक और तकनीकी सहयोग दिया जा रहा है। डीएम श्री सिंह ने नागरिकों से अपील करते हुए कहा कि स्वच्छता अभियान को सफल बनाने में सकारात्मक सहयोग दें।

 उन्होंने जिले के बीडीओ को निदेश देते हुए कहा कि वित्तीय वर्ष 2022 - 23 के लिए चयनित 60 ग्राम पंचायतों का एक्शन प्लान शीघ्र तैयार कर उसे जल स्वच्छता समिति को उपलब्ध कराएं ताकि इस पर तेजी से काम किया जा सके। श्री सिंह ने सामग्री की खरीद में विभागीय गाइडलाइंस का अक्षरशः अनुपालन किए जाने पर बल देते हुए कहा कि इसका उल्लंघन किए जाने पर विधि सम्मत कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने कार्यशाला आयोजन के लिए विभागीय अधिकारियों एवं कर्मियों को साधुवाद दिया। उप विकास आयुक्त शशि शेखर चौधरी ने इस अवसर पर कहा कि जमुई जिला के सभी ग्राम पंचायत 2025 तक स्वच्छ एवं सुंदर होंगे। उन्होंने अभियान के चरणबद्ध तरीके से जारी रहने की जानकारी देते हुए कहा कि वित्तीय वर्ष 2021 - 22 में 40 ग्राम पंचायत, 2022 - 23 में 60 तथा 2023 - 24 में शेष 52 ग्राम पंचायतों को इसके दायरे में लाया जाना है। श्री चौधरी ने निर्धारित लक्ष्य को हासिल करने के लिए सभी सम्मानित मुखिया जी को प्रचार प्रसार के साथ जन जागरूकता अभियान तेज किए जाने का संदेश दिया। उन्होंने लोहिया स्वच्छ अभियान को गति देने के लिए वित्तीय वर्ष 2021 - 22 हेतु चयनित ग्राम पंचायतों को राशि हस्तांतरित कर दिए जाने की जानकारी देते हुए कहा कि मुखिया जी इसमें बढ़ चढ़ कर हिस्सा लें और इस बहुउद्देश्यीय कार्यक्रम को धरा पर उतारने में सकारात्मक सहयोग दें।

 डीडीसी श्री चौधरी ने फेज :  02 की चर्चा करते हुए कहा कि इसके अंतर्गत जिले के 40 ग्राम पंचायत स्वच्छ और निर्मल होंगे। इन ग्राम पंचायतों के 247 गांवों के हर परिवार को एक हरा और एक नीला दो डस्टबिन दिए जाएंगे। इसी संदर्भ में वार्ड स्तर पर एक ट्राइ साइकिल तथा पंचायत स्तर पर एक ई रिक्शा भी दिया जाना है। बाजार के साथ सार्वजनिक स्थलों पर कूड़ेदान भी लगाए जाएंगे। उन्होंने ओडीएफ प्लस की विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि इसके तहत समुदायों के व्यवहार में परिवर्तन, चिंहित नए परिवारों के साथ छूटे हुए परिवारों को व्यक्तिगत शौचालय की सुलभता तथा चरणबद्ध तरीके से ठोस एवं तरल अवशिष्ट का प्रबंधन किया जाना है। श्री चौधरी ने भी कार्यशाला के आयोजन के लिए आयोजकों की जमकर तारीफ की।

डीआरडीए के निदेशक स्वतंत्र कुमार सुमन ने आगत अतिथियों का गर्मजोशी से इस्तकबाल किया औऱ कार्यशाला के उद्देश्यों पर प्रकाश डालते हुए विषय प्रवेश कराया। लोहिया स्वच्छ अभियान के जिला समन्वयक नीरज कुमार ने प्रशिक्षक की महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए उपस्थित जनों को वांछित जानकारी दी और उनका क्षमतावर्धन किया। कार्यशाला को संजय कुमार, विशाल, राकेश आदि ने सफल बनाने में कारगर भूमिका निभाई। इस अवसर पर सम्बंधित बीडीओ, मुखिया, पंचायत सचिव, प्रखंड समन्वयक, कार्यपालक सहायक आदि अधिकारी एवं कर्मी उपस्थित थे। कार्यशाला सह समीक्षा बैठक सौहार्दपूर्ण वातावरण में संपन्न हो गया।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!