Breaking News

गैर जरूरी सभी बैंक खातों को बंद करायी जाय:- अपर समाहर्त्ता


वैशाली जिला ब्यूरो प्रभंजन कुमार मिश्रा की रिपोर्ट
 

 हाजीपुर : जिलाधिकारी श्री यशपाल मीणा के निदेश पर अपर समाहर्ता वैशाली श्री जितेन्द्र प्रसाद साह के द्वारा वैशाली समाहरणालय सभागार में जिला स्तरीय सभी कार्यालयों प्रखंड एवं अंचल सहित सभी कार्यालयों के प्रधान सहायकों के साथ हुयी मासिक समीक्षात्मक बैठक में निदेश दिया गया कि सभी कार्यालय वैसे सभी बैंक खाते जिसकी अब जरूरत नहीं है अथवा अनावश्यक बैंक खातों को शीघ्र बंद करायें । अपर समाहर्त्ता ने कहा कि इस संबंध में पूर्व से वित्त विभाग का पत्र भी प्राप्त है जिसका अनुपालन सुनिश्चित कराया जाय । अपर समाहर्ता के द्वारा स्थापना उप समाहर्त्ता को निदेशित किया गया कि वरीय कोषागार पदाधिकारी को इस आशय पत्र दें कि उनके स्तर से सभी कार्यालयों से संचालित बैंक खातों की जानकारी प्राप्त की जाय और यह प्रमाण पत्र लिया जाय कि संबंधित कार्यालय में कोई गैर जरूरी खाता अब संचालित नहीं है । जब तक कार्यालय यह प्रमाण पत्र नहीं दे देते तब तक वहाँ के नाजीर , प्रधान सहायक तथा निकासी एवं व्ययन पदाधिकारी का वेतन स्थगित कर दें ।

 अपर समाहर्ता कहा कि अगली बैठक में सभी प्रधान सहायक खाता संबंधी विवरण लेकर आएगें । अपर समाहर्ता ने कहा कि जिलाधिकारी के द्वारा सभी प्रखंड एवं अंचल कार्यालयों का स्वयं निरीक्षण किया गया और उस क्रम में निर्देश दिये गये । उस निर्देश का अनुपालन प्रतिवेदन की माँग की गयी । उन्होंने कहा कि जिला से जो भी पत्र क्षेत्रीय कार्यालयों को भेजे जाते हैं उसका अलग से संधारण किया जाय और उसका लॉग बुक मेन्टेन किया जाय । सभी अंचल एवं प्रखंड कार्यालयों में सीसीटीवी कैमरा लगाने का निदेश पूर्व में जिलाधिकारी के द्वारा दिया गया था । उसकी भी समीक्षा की गयी । अपर समाहर्ता ने कहा कि सभी कार्यालयों में पंजियों को अद्यतन रखा जाय । 

बैठक में हीं कैश बुक के अंतिम पृष्ठ की छाया प्रति सभी प्रधान सहायकों से प्राप्त की गयी । बैठक में उपस्थित डीसीएलआर हाजीपुर - सह - प्रभारी पदाधिकारी आपदा प्रबंधन ने कहा कि स्थानीय आपदा में मृत व्यक्ति के परिजनों को देय अनुग्रह राशि सभी अंचलों को भेज दी गयी है जिसे सभी संबंधित परिजनों को शीघ्र कैम्प लगाकर वितरण करा दी जाय और इससे संबंधित उपयोगिता प्रमाण पत्र आपदा शाखा को शीघ्र उपलब्ध करायी जाय । स्थापना उप समाहर्ता - सह - जिला पंचायती राज पदाधिकारी ने कोर्ट में लम्बित मामलों की समीक्षा की जिसमें सीडब्लूजेसी के 180 तथा एमजेसी के कुल 22 मामले लम्बित पाये गये । सीडब्लूजेसी के मामले में शीघ्र शपथ पत्र दायर करने तथा एमजेसी के मामले में कारणपृच्छा के लिए पत्र विधि शाखा को भेजने का निदेश दिया गया । बैठक में कार्यालय अधीक्षक सहित सभी शाखाओं के प्रधान सहायक उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!