Breaking News

उर्वरक निगरानी समिति की किया गया बैठक आयोजित


वैशाली: 
बिदुपुर प्रखण्ड कृषि भवन सभागार में उर्वरक निगरानी समिति की बैठक आयोजित किया गया जिसकी अध्यक्षता प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी रत्नेश कुमार ने किया ! जिसमें प्रखण्ड विकास पदाधिकारी किरण कुमारी, अंचलाधिकारी रवि राज, प्रखण्ड सहकारिता पदाधिकारी, जिलापरिषद सदस्य 31 रीता सिंह, जिला परिषद 32 विद्या रानी, जिला परिषद 33 , जदयू प्रखण्ड अध्यक्ष राजेश्वर प्रसाद मुकेश, राजद प्रखण्ड अध्यक्ष अशोक पासवान, लोजपा प्रखण्ड अध्यक्ष राजकुमार सिंह, भाजपा पूर्वी मंडल अध्यक्ष टिंकज कुमार सिंह, भाजपा पश्चिमी मंडल अध्यक्ष संदीप कुमार, भाकपा माले के अरविन्द चौधरी के साथ साथ प्रखण्ड क्षेत्र के सभी उर्वरक के खुदरा विक्रेता मौजूद रहे !

 जदयू प्रखण्ड अध्यक्ष राजेश्वर प्रसाद मुकेश ने कहा कि सभी दुकानदार भाई किसानों को उचित मूल्य पर उर्वरक मुहैया कराए ताकि समय से फसलों की बुआई हो सके जिसके पैदावार अच्छी हो ! प्रखण्ड विकास पदाधिकारी किरण कुमारी ने कहा कि जो भी विक्रेताओं को दिक्कतें आती हैं उसे दूर करने की कोशिश किया जाएगा ताकि किसी प्रकार की कोई परेशानी किसानों को उर्वरक के कारण न हो साथ ही साथ उन्होंने विक्रेताओं के शिकायत पर यह भी कहा कि जो बिदुपुर क्षेत्र में जिस प्रकार की उर्वरक की जरूरत है वही उर्वरक ही होलसेल द्वारा कराया जाए इसके लिए मैं जिलाधिकारी महोदय को पत्र लिखूंगी ! भाकपा माले के अरविन्द चौधरी ने कृषि पदाधिकारी को एक ज्ञापन सौंपा जिसमें किसानों और दुकानदारों की समस्याओं से अवगत कराया गया !

 कालाबाजारी न हो सके इसके लिए उचित कदम प्रशासनिक तौर पर उठाया जाए यह बातें पश्चिमी मंडल अध्यक्ष संदीप कुमार ने कही ! पूर्वी मंडल अध्यक्ष टिंकज कुमार सिंह ने कहा कि अच्छी फसल के लिए गुणवत्ता पूर्ण का इस्तमाल किसान करे जिससे अच्छी पैदावार हो सके ! राजद प्रखण्ड अध्यक्ष अशोक पासवान ने कहा कि किसानों और उर्वरक विक्रेताओं के बीच अच्छी समन्वय स्थापित कर किसानों को सरकार के द्वारा निर्धारित मूल्य पर ही उर्वरक मुहैया हो ! 

प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी रत्नेश कुमार ने किसानों एवं उर्वरक विक्रेताओं की सारी समस्याओं को जिला कृषि पदाधिकारी को लिखित रूप से भेज कर उपस्थित सदस्यों को आश्वस्त कराया और तीनों जिला परिषद के सदस्यों से यह आग्रह किया कि अगली बार जब भी जिला परिषद की बैठक आयोजित हो उसमे किसानों और उर्वरक विक्रेताओं को समस्याओं को रखे ताकि आगे कोई भी समस्या नहीं हो साथ ही साथ उन्होंने यह भी कहा कि उर्वरक निगरानी समिति की बैठक प्रत्येक दो महीनों पर बुलाई जाएगी जरूरत पड़ी तो बीच मे भी बैठक किया जाएगा ! अंत में प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी ने आए हुए अतिथियों का आभार व्यक्त करते हुए किसानों के हित में निरंतर कार्य करने का आश्वासन दिया!

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!