Breaking News

आम नागरिकों को जिलाधिकारी ने दिया अपना मोबाइल नंबर और कहा कोई गड़बड़ी हो तो मुझे बताएं


वैशाली: 
जिलाधिकारी श्री यशपाल मीणा अपराहन 3:45 बजे पातेपुर प्रखंड के सैदपुर डुमरा पंचायत स्थित मध्य विद्यालय मुकुंदपुर पहुंच गए और वहां जांच शुरू कर दी। वहां पर उपस्थित शिक्षकों ने बताया कि 3:30 बजे बच्चों की छुट्टी कर दी जाती है और 4:00 बजे स्कूल बंद होता है। इस पर जिलाधिकारी ने आश्चर्य प्रकट की और प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी से इस पर जानकारी मांगी। जिलाधिकारी के द्वारा वहां पर सभी पंजियों की जांच की गई तथा शिक्षकों की उपस्थिति की मिलान की गई। उस समय भी कुछ वर्ग चल रहे थे परंतु छात्रों की उपस्थिति बहुत कम पाई गई। जांच में पाया गया कि कुल 473 बच्चों की उपस्थिति बनी हुई है और 235 बच्चों को मध्यान भोजन कराया गया है। यहां की स्थिति सुधारने के लिए प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारी और प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को 10 दिन का समय दिया गया यहां के प्रधानाध्यापक से स्पष्टीकरण मांगा गया। यहां पर बड़ी संख्या में स्थानीय लोग भी उपस्थित थे इनसे भी जिलाधिकारी ने स्कूल के पठन-पाठन और शिक्षकों के समय पर आने की जानकारी ली गई परंतु इन लोगों ने स्कूल की शिकायत की जिस पर जिलाधिकारी के द्वारा अपना मोबाइल नंबर लोगों को नोट करवाया गया और कहा गया की स्थिति में अब सुधार आएगी इसके बाद भी अगर कोई गड़बड़ी दिखे तो सीधे मुझे बताएं। जिलाधिकारी ने विद्यालय के पास ही बने पंचायत सरकार भवन का निरीक्षण किया और वहीं पर स्थित मुसहर टोली में चले गए यहां पर एक सौ से अधिक परिवार रह रहा है ।वहां पर लोगों से मिलकर आवास योजना और राशन कार्ड की जानकारी प्राप्त की गई ।लोगों ने बताया कि लगभग 25 परिवारों को आवास नहीं मिला है जिस पर जिलाधिकारी ने कहा कि जिनको भी आवास नहीं मिला है उनका नाम ,आधार और परिवार के साथ फोटो सहित आवेदन प्रखंड विकास पदाधिकारी को उपलब्ध करा दिया जाए और प्रखंड विकास पदाधिकारी को निर्देश दिया गया की इन्हें आवास उपलब्ध कराएं ।लोगों ने बताया कि राशन का वितरण यहां समय से हो रहा है ।कुछ लोगों को राशन कार्ड भी बनाया जाना है ।इसके बाद जिलाधिकारी ने टेकनारी पंचायत के वार्ड नंबर 7 का निरीक्षण किया और और यहां पर नल जल ,बिजली आपूर्ति ,आपूर्ति व्यवस्था तथा आवास योजना को धरातल पर देखा ।यहां लोगों ने बताया कि लगभग 22 घंटे तक बिजली मिल रही है। इस पंचायत के वार्ड नंबर 9 में नल जल योजना का लाभ नही मिलने की शिकायत मिली जिस पर पंचायत सचिव ने बताया कि 2 वर्ष पहले 14 लाख रुपए की निकासी वार्ड क्रियान्वयन प्रबंधन समिति के द्वारा कर लिया गया परंतु कोई कार्य नहीं कराया गया ।इस पर जिलाधिकारी ने पंचायत सचिव को निर्देश दिया की अविलंब प्राथमिकी दर्ज कराकर सूचित किया जाए अगर ऐसा नहीं करेंगे तो पंचायत सचिव पर ही कार्रवाई की जाएगी। यहां पर आवास सहायक ने बताया कि पहले फेज में 106 आवास को स्वीकृति मिली थी जिसमें 93 आवास पूर्ण कर लिया गया है जबकि दूसरे फेज में 12 आवास को स्वीकृति मिली थी इसमें 9 लोगों ने अपना आवास पूर्ण कर लिया है और 3 लोगों ने मटेरियल गिरा कर कार्य प्रारंभ कर दिया है जिलाधिकारी ने कहा कि जो लोग भी पैसा उठा लिए हैं और कार्य नहीं करा रहे हैं उन पर प्राथमिकी दर्ज करा दी जाए ।इसके बाद जिलाधिकारी मौदह चतुर पंचायत के वार्ड नंबर 13 का भ्रमण किए और लोगों से मिलकर सरकार की योजनाओं की फीडबैक प्राप्त की। जिला अधिकारी के द्वारा प्रखंड कार्यालय में पदाधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक भी की गई और सभी जरूरी निर्देश दिए गए। जिलाधिकारी ने स्पष्ट कहा किसी को कोई परेशानी ना हो इस पर विशेष ध्यान दिया जाए ।यहां से निकलने के बाद जिलाधिकारी पातेपुर की ओर से बरेला झील का अवलोकन किए और वहां स्थानीय लोगों से मिलकर इसके बारे में जानकारी प्राप्त की।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!