Breaking News

डीलर के विरुद्ध राशन गायब मामले पर आपूर्ति पदाधिकारी ने किया मामले की जांच


वैशाली: 
पातेपुर प्रखंड के नीरपुर पंचायत के लोगो द्वारा अपनी पंचायत अपना प्रशासन कार्यक्रम के दौरान डीलर के विरुद्ध मई महीने का राशन गायब करने की शिकायत मिलने के बाद  आपूर्ति पदाधिकारी ने विभिन्न वार्डो में जाकर मामले की जांच की। जांच के दौरान लोगो ने मई महीने में राशन नही देने एवं राशन की मांग करने पर डीलर द्वारा दुर्व्यवहार करने का आरोप लगाया। इस दौरान एमओ राजीव कुमार के साथ उक्त पंचायत के मुखिया पति सह पूर्व उप प्रमुख मुकेश कुमार उर्फ पिंटू राय, पैक्स अध्यक्ष पंकज कुमार समेत कई अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद रहे।

 गत 14 जुलाई को नीरपुर पंचायत में लगे अपना पंचायत अपना प्रशासन कार्यक्रम में ग्रामीणों द्वारा डीलर देवनारायण राय द्वारा मई महीने का राशन नही बांटे जाने को लेकर शिकायत की गई थी। शिकायत मिलने के बाद मामले पर संज्ञान लेते हुए मंगलवार को प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी राजीव कुमार द्वारा उक्त पंचायत के वार्ड संख्या 4,5,11,12,13, एवं14 में जाकर जांच की गई। जांच के दौरान सैंकड़ो की संख्या में ग्रामीणों ने मई महीने का राशन डीलर द्वारा नही दिए जाने की शिकायत की। इस दौरान स्थानीय मुखिया पति मुकेश कुमार उर्फ पिंटू राय, पैक्स अध्यक्ष पंकज कुमार ने आपूर्ति पदाधिकारी के साथ सभी वार्डो में जाकर लोगो से पूछताछ की। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि डीलर द्वारा हर महीने जहां राशन कम दिया जाता है वही हर कार्डधारी से दस बीस रूपए अधिक वसूले जाते है।

 कम राशन दिए जाने की बात कहने पर डीलर द्वारा दुर्व्यवहार किया जाता है। ग्रामीणों ने आरोप लगाया है कि डीलर द्वारा पॉश मशीन से अंगूठा लगवाने के बाद भी न तो पर्ची दी जाती है और न ही राशन दिया गया है। मई महीने की राशन के संबंध में कहने पर साफ साफ अगले महीने में राशन देने की बात कहकर टाल दिया जाता है। इस मामले में डीलर देवनारायण राय ने बताया कि पंचायत की राजनीति से प्रेरित होकर मुखिया पति द्वारा बेवजह परेशान किया जा रहा है। हर महीने का राशन वितरण किया गया है। जिन कार्डधारी ने समय पर आकर राशन का उठाव नही किया है उन्ही लोगो का राशन नही मिला है।

इस संबंध में प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी राजीव कुमार ने बताया कि लोगों के द्वारा नीरपुर पंचायत के डीलर देवनारायण राय द्वारा लोगो को मई महीने का राशन नही दिए जाने की शिकायत की गई थी।  शिकायत मिलने पर मामले की जांच की गई है। रिपोर्ट तैयार कराई जा रही है। रिपोर्ट के आधार पर डीलर से स्पष्टीकरण मांगी जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!