Breaking News

वैशाली डीएम ने पातेपुर के कई पंचायतो का दौरा कर पंचायत में चल रहे विभिन्न योजनाओं का किया औचक निरीक्षण


वैशाली:
डीएम यशपाल मीणा ने पातेपुर के कई पंचायतो का दौरा कर पंचायत में चल रहे विभिन्न योजनाओं का औचक निरीक्षण किया।निरीक्षण के दौरान विद्यालय, नलजल,नली गली, मनरेगा, आवास योजना समेत विभिन्न योजनाओं की जांच की

।जांच के दौरान संबंधित अधिकारियों को कई आवश्यक दिशानिर्देश दिया। इस दौरान पातेपुर बीडीओ मनोज कुमार राय के साथ पंचायती राज पदाधिकारी रंजन कुमार, मनरेगा पीओ राशिद अशरफ,आवास पर्यवेक्षक सन्नी कुमार के साथ कई अधिकारी मौजूद रहे। इस दौरान डीएम ने सरकार द्वारा संचालित लगभग दो दर्जन से अधिक योजनाओं का जांच किया।

                  डीएम यशपाल मीणा ने गुरुवार को दोपहर बाद पातेपुर के सैदपुर डुमरा पंचायत के मध्य विद्यालय मकुंदपुर, पंचायत सरकार भवन, सहकारी समिति गोदाम के साथ ही महादलित वस्ती में जाकर लोगो को सरकार द्वारा मिलने वाली सुविधाओं के संबंध में लोगो से सीधी बात की। इस दौरान डीएम ने अपना मोबाइल नंबर सीधे लोगो को देते हुए कहा कि किसी भी प्रकार के समस्या या शिकायत हो तो कोई भी व्यक्ति फोन कर जानकारी दे सकते है। शिकायत मिलने पर सीधी कार्रवाई होगी। डीएम यशपाल मीणा ने उसके बाद टेकनारी पंचायत भवन पहुंचकर नलजल समेत पंचायत में चल रहे सरकार की विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं की आम लोगो से जानकारी ली।इस दौरान डीएम एक छोटे चबूतरे पर बैठ कर ही पंचायत के जनता से सीधा संवाद करते हुए योजना के संबंध में पूछताछ की। इस दौरान लोगो ने नलजल,आवास योजना एवं मनरेगा में हो रही विभिन्न कार्यो के संबंध में डीएम से शिकायत की। शिकायत मिलने पर डीएम ने सीधे संबंधित पदाधिकारी को संख्त निर्देश देते हुए आवश्यक कार्रवाई का निर्देश दिया। तत्पश्चात वे मौदह चतुर पंचायत के पंचायत भवन परिसर पहुंचे जहां उत्क्रमित मध्य विद्यालय,स्वास्थ्य उपकेंद्र, नलजल, कुआं, कोचिंग संस्थान आदि का निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्रम में गांव में संचालित कोचिंग संचालक को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि बिना निबंधन के कोचिंग चलाना अवैध है। निबंधन नही कराने की स्थिति में संचालक के विरुद्ध प्राथिमिकी दर्ज कराई जाएगी। निरीक्षण के बाद वे सीधे प्रखंड मुख्यालय पहुंचे जहां प्रखंड के पदाधिकारियों के साथ बैठक कर आवश्यक दिशा निर्देश दिया।तत्पश्चात डीएम ने मीडिया को संबोधित करते हुए कहा कि जिले में विभिन्न योजनाओं की शिकायत के लिए जिले के सभी पंचायतो में अपना पंचायत अपना प्रशासन के तहत एक मुहिम चलाई जा रही है जिसमे अभी तक कुल साढ़े चार हजार आवेदन प्राप्त हुए है जिसमे से लगभग पच्चास फीसदी आवेदन का ऑन स्पॉट निष्पादन किया जा चुका है।बाकी बचे आवेदनों का निष्पादन के लिए संबंधित पदाधिकारियो को निर्देशित किया गया है। उन्होंने कहा कि प्रखंड के सभी पदाधिकारियों एवं कर्मियों को ससमय कार्यालय में उपस्थित होकर लोगो की समस्या को सुनकर समय पर निष्पादन करें. ऐसा नही करने वाले पदाधिकारी एवं कर्मचारी के विरुद्ध लोग सीधे मेरे ऑफिशियल नंबर पर शिकायत करें ताकि उनके समस्या का ससमय निष्पादन किया जा सके साथ ही दोषी पदाधिकारी एवं कर्मचारी पर कार्रवाई की जा सके। डीएम ने जनता से आह्वान किया कि एक दिन बीच कर पंचायतों मेलाग्ने वाले अपना पंचायत अपना प्रशासन कार्यक्रम में पहुंच कर अपनी समस्या को अवश्य रखें।पातेपुर मुख्यालय में बैठक के बाद डीएम सीधे झील बरैला का निरीक्षण करने निकल गए जहां उन्होंने ने बरैला झील का भी निरिक्षण किया।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!