Breaking News

बेहतर माइक्रो प्लान के साथ स्वास्थ्य के सभी मानकों पर शत-प्रतिशत उपलब्धि हासिल करें: जिलाधिकारी


वैशाली
: जिलाधिकारी श्री यशपाल मीणा के द्वारा समाहरणालय सभागार में स्वास्थ्य विभाग के कार्यों की समीक्षात्मक बैठक में निर्देश दिया गया कि माइक्रो प्लान बेहतर ढंग से बनाएं और आपसी समन्वय स्थापित कर स्वास्थ्य के सभी मानकों पर शत-प्रतिशत उपलब्धि हासिल करें । जिलाधिकारी के द्वारा कोविड टीका करण की समीक्षा में पाया गया कि जिला में प्रथम डोज की उपलब्धि 80% तथा इसके विरुद्ध की द्वितीय डोज की उपलब्धि 86% है। प्रथम में पातेपुर राघोपुर,जंदाहा प्रखंड में उपलब्ध 70% से कम पाई गई।इस पर जिलाधिकारी ने नाराजगी व्यक्त करते हुए 15 दिन के अंदर स्थिति में सुधार लाने का निर्देश दिया । 15 से 17 एवम 12 से 14 आयु वर्ग के बच्चों में टीकाकरण का लक्ष्य हासिल करने के लिए विद्यालयों के साथ बेहतर तालमेल बनाने की बात कही गई और सभी प्रखंड शिक्षा पदाधिकारियों से संबंधित प्रखंड के स्कूलों में ऐसे बच्चों की सूची जिन्होंने टिका लिया है और वैसे बच्चों की सूची जिन्होंने टीका नहीं लिया है कि मांग करने का निर्देश दिया गया और इस आधार पर आगे की रणनीति बनाकर टीकाकरण करने की बात कही गयी।समीक्षा में पाया गया कि स्कूलों में वैशाली प्रखंड में 95 प्रतिशत,गोरौल में81%तथा भगवान पुर में 76% पूर्ण कर लिया गया है। जिलाधिकारी के द्वारा प्रिकॉशन डोज में भी तेजी लाने का भी निर्देश दिया गया । 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में मात्र 16% टीकाकरण पर नाराजगी व्यक्त की गई और इसे बढ़ाने के लिए सामाजिक सुरक्षा पेंशन के लाभुकों की सूची के आधार पर प्रखंड कल्याण पदाधिकारी एवं विकास मित्र का सहयोग लेकर अगले 15 दिनों में इसे गति देने का निर्देश दिया गया। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी एमओआईसी टीकाकरण को गंभीरता से लें ।टीकाकरण में उपलब्धि न्यून होने पर लालगंज के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी एवं प्रखंड स्वास्थ्य प्रबंधक से स्पष्टीकरण की मांग की गई। प्रखंड के वरीय पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया कि जब भी प्रखंडों का भ्रमण करें टीकाकरण जरूर देखें ।जिला अधिकारी के द्वारा आरसीएच पंजी के अपडेशन की समीक्षा की गई और यह कार्य बेहतर करने पर वैशाली और चेहराकला प्रखंड के moic को सम्मानित करने का निर्देश दिया गया। जिलाधिकारी के द्वारा anc पंजीकरण बढाने तथा संस्थागत प्रसव संख्यात्मक रूप से हो इसके लिए लोगों को जागरूक करने की बात कही गई। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी आशा औरआणं प्रशिक्षण की व्यवस्था ए एन एम के जिला स्तर पर प्रशिक्षण की ब्यवस्था कराई जाए ।इसके लिए सिड्यूल बना दी जाए ।बैठक में बताया गया कि 11 जुलाई से परिवार नियोजन पखवारा चल रहा है जिसके अंतर्गत अभी तक 247 बंध्याकरण किया गया है। टीवी की समीक्षा में पाया गया कि जिला में इसके 520 मरीज चिन्हित है जिन्हें सरकार की योजनाओं का लाभ दिया जा रहा है ।जिलाधिकारी ने कहा कि ईट भट्टे वाले जगह पर कार्यशील मजदूर एवं महादलित टोला में कैंप लगाकर लोगों की जांच कराई जाए और वैसे लोगों की पहचान कर उनका समुचित इलाज कराई जाय ।बाल हृदय योजना की समीक्षा में बताया गया कि अभी तक 25 बच्चों की सर्जरी कराई गई है और 75 बच्चे चयनित किए गए हैं जिनकी सर्जरी होना है ।आयुष्मान भारत की समीक्षा में बताया गया कि अभी तक 351000 लोगों का कार्ड बनाया गया है और कार्ड बनाने के मामले में वैशाली जिला राज्य में दूसरे स्थान पर कायम है। जिलाधिकारी के द्वारा कहा गया कि सभी बीएचएम और एमओ मिलकर राशन कार्ड धारियों का आयुष्मान कार्ड बनवाएं। जिलाधिकारी ने कहा कि जहां-जहां संस्थागत प्रसव कराया जा रहा है वहां पर एक मॉडल ओटी रूम बनाई जाय। बैठक में जिलाधिकारी के साथ उप विकास आयुक्त सदर एसडीओ डीसीएलआर सदर सिविल सर्जन सहित स्वास्थ्य विभाग के सभी पदाधिकारी केयर इंडिया एवं डब्ल्यूएचओ के प्रतिनिधि उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!