Breaking News

पोखर में डूबने से एक बच्चे की मौत, अन्य की खोज जारी


वैशाली बिदुपुर संवाददाता अभिनय कुमार की रीपोर्ट

बिदुपुर के मधुरापुर मोहन चिमनी के निकट के पोखर में बुधवार को चार छात्र के डूबने की जानकारी के बाद हड़कम्प मच गई।सभी छात्र नावानगर राजकीय मध्य विद्यालय के थे जो स्कूल से हाजिरी बनाकर क्लास से पोखर में तैरने के लिये निकल गए थे।चार छात्रों में एक का शव पोखर से बरामद किया गया है जिसे पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिये भेज दिया है।वही अन्य की तलाश में एसडीआरएफ की टीम लगी हुई है।

 एक नजर मामले में---

राजकीय मध्य विद्यालय नावानगर के वर्ग छः के प्रियांशु कुमार,पिता इंद्रजीत राय उर्फ बटोही राय,शुभम कुमार,पिता गणेश सिंह और दो अन्य जिनके परिजन को समाचार लिखे जाने तक घटना की जानकारी नही मिल पाई है।सभी चारो छात्र स्कूल से अटेंडेंन्स बनाकर निकल आये।स्कूल से तकरीबन दो किलोमीटर मोहन चिमनी के निकट पोखर है जिसमे आमदिनों में भी पानी भरी रहती है।सभी चारो छात्र उसी में तैरने गए। जिसमे अधिक पानी मे चले जाने से डूबने से उन सभी की मौत हुई।

 घटना बाद मची हड़कम्प-----

चारो पोखर के दूसरे भाग से पानी मे कूदे जहा पानी ज्यादा था।जब दूसरी तरफ स्नान कर रही महिलाएं की नजर इन डूबते बालको पर पड़ी तब उनसभी के द्वारा शोर मचाई गई और चिमनी पर कार्य कर रहे मजदूर दौरे।

 कपड़े से हुई पहचान-----

बताया गया कि किसी ट्रैक्टर चालक ने अन्य छात्र जो मौके से डूबते छात्र को छोड़ कर भाग निकले उसी से जबरन पूछताछ की।उन्ही छात्रों द्वारा बताया गया कि उनके साथ आये चार छात्र जो पोखर में स्नान करने गए थे डूब गए।जिसके बाद ट्रैक्टर चालक द्वारा सम्बन्धित बच्चों के परिजन को सूचित किया गया।मौके पर पहुचे परिजन ने पोखर पर रखी गई बालको के कपड़े से उनकी पहचान की जिसके बाद चीख पुकार मच गई और सैंकड़ो लोग पोखर पर पहुच गए।

दो की हुई पहचान,एक बच्चे का शव मिला---


हादसे की जानकारी बिदुपुर पुलिस को स्थानीय लोगो द्वारा दी गई।जिसके बाद पुलिस ने एसडीआरएफ की टीम को सूचित कर उसे घटना स्थल पर बुलाया।एसडीआरएफ द्वारा एक बच्चे इंद्रजीत राय का पुत्र प्रियांशु को पोखर से निकाला गया है।वही दूसरे बच्चे शुभम के कपड़े से उसके पिता गणेश सिंह ने उसकी पहचान की है और उस बालक के भी पोखर में डूबने की पुष्टि हुई।

दूसरी तरफ अन्य दो बालको के कपड़े भी पोखर पर पड़े है।स्थानीय लोगो ने बताया कि गुरु पूर्णिमा के चलते लोग पूजा पाठ में व्यस्त है जिनके चलते उन्हें या तो हादसे की जानकारी नही हो पाई हो।अथवा ये बालक कपड़े छोड़कर हादसे के बाद भाग गए हो।

हादसे के बाद मची है हड़कम्प---

स्कूली छात्रों के पोखर में डूबकर हुई मौत के बाद क्षेत्र में हड़कम्प मची हुई है।एक तरफ जहा सम्बंधित परिवार के लोगो का रो-रोकर बुरा हाल है,वही स्कूल प्रबंधन पर भी लोग उंगली उठा रहे है।लोगो ने बताया कि हालांकि बच्चे के परिजन को बच्चे पर निगरानी रखनी चाहिये वावजूद स्कूल में अगर छात्रों पर थोड़ी सी भी निगरानी रखी जाती तो शायद ही ऐसी हादसा होती। वही अन्य डूबे छात्रों की खोज में एसडीआरएफ की टीम लगी हुई है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!