Breaking News

स्वीकृत किये गये सभी पीएम आवास को 15 अगस्त तक हर हाल में पूर्ण करायी जाय:- जिलाधिकारी


वैशाली: 
हाजीपुर :-जिलाधिकारी श्री यशपाल मीणा के द्वारा वैशाली जिला के महनार , सहदेई बुजुर्ग और देसरी प्रखंड के विभिन्न पंचायतों का भ्रमण कर सरकार के द्वारा संचालित विकास की योजनाओं का धरातल पर स्थानीय लोगों से मिलकर जानकारी प्राप्त की गयी और संबंधित पदाधिकारियों को सख्त निदेश दिया गया । जिलाधिकारी ठीक 10:30 बजे महनार प्रखंड के वासुदेवपुर चंदेल पंचायत स्थित राजकीय बालिका प्राथमिक विद्यालय वासुदेवपुर पहुँच गये । वहाँ के प्रधान शिक्षक श्री संजय कुमार सिंह अनुपस्थित थे । बताया गया कि इनकी तबियत खराब रहती है । इस पर अनुमंडल पदाधिकारी को स्वास्थ्य जाँच के लिए शिघ्र मेडिकल वोर्ड कराने का निदेश दिया गया । एक अन्य शिक्षिका उज्जमा तसलीम भी लम्बी अवधि से अनुपस्थित पायी गयी । इनके विरूद्ध भी जाँच कर कार्रवाई का निदेश दिया गया । जिलाधिकारी यहाँ से निकट में ही स्थित रविदास टोले का भ्रमण किये ।

 यहाँ पर बताया गया कि पिछले एक माह से नल - जल योजना मोटर के जल जाने से बंद है । इस पर जिलाधिकारी के द्वारा अबिलम्ब मोटर को बदल कर नया मोटर लगवाने एवं नल - जल को सुचारू रूप से चलाने का निर्देश दिया गया । यहाँ पर बताया गया कि लोगों का जॉब कार्ड बना हुआ है परन्तु कार्य के अभाव में बैठे हुए हैं । जिलाधिकारी के द्वारा पंचायत सरकार भवन का निर्माण कार्य इस टोले के लोगों से कराने का निदेश दिया गया है यहीं पर प्रशांत कुमार नाम का एक शिक्षित युवक मिला जिसे जिलाधिकारी के द्वारा कुछ टास्क दिया गया । जिलाधिकारी ने कहा कि आप 10 वीं 12 वीं एवं स्नातक पास छात्रों की सूची बनायें एवं सार्वजनिक सुरक्षा पेन्शन के योग्य लाभूक जो अभी तक पेंशन से अच्छादित नहीं हैं उनकी सूची बनाकर प्रखंड विकास पदाधिकारी को उपलब्ध करा दें ।

 यहाँ के वार्ड नं०-8 के डीलर कृष्ण चंदर सिंह पर पॉस मशीन की पर्ची नहीं देने एवं 25 किलों की जगह 20 किलो राशन देने की बात लोगों के द्वारा बतायी गयी जिस पर जिलाधिकारी के द्वारा अनुमंडल पदाधिकारी महनार को लाभूकों की उपस्थिति में पीडीएस दूकान की पूर्ण जाँच कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया गया । यहाँ के बाद करनौती पंचायत स्थित उत्क्रमित उच्च माध्यमिक विद्यालय कमला कन्या करनीती में जिलाधिकारी गये । वहाँ की व्यवस्था पर जिलाधिकारी ने संतोष व्यक्त करते हुए प्रधानाध्यापक श्री प्रशान्त कुमार को सम्मानित करने का निदेश दिया । यहाँ बच्चें स्कूली पोषाक में और गले में लटकाये परिचय पत्र में उपस्थित थे जबकि सभी शिक्षक सामान्य तौर पर एक रंग के परिधान में नजर आये । यहाँ पर जिलाधिकारी ने बच्चों से सामान्य ज्ञान के कई प्रश्न किया जिसका बच्चों ने सटीक उत्तर दिया । इस पर प्रशन्नता व्यक्त की गयी । जिलाधिकारी महनार के बाद सहदेयी बुजुर्ग प्रखंड के मजरोही उर्फ सहरिया पंचायत के वार्ड नं0-2 में स्थित स्वास्थ्य उप केन्द्र का निरीक्षण किया । 

यहाँ पर 27 प्रकार की दवा की उपलब्धता के बारे में बताया गया । यहाँ पर पेशेन्ट का विवरणी रखने एवं पंजियों में प्रत्येक दिन के कार्यों को लिखने का निदेश दिया गया । यहाँ पास ही स्थित उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालय तोई मठ का निरीक्षण किया गया तथा पुराने भवन का मरम्मति कराने एवं पीछे की तरफ के चाहरदिवारी कराने का निदेश वीडीओं को दिया गया तथा इसे 15 अगस्त के पहले पूर्ण करा लेने की बात कही गयी । यहाँ आंगनबाड़ी केन्द्र के निरीक्षण के क्रम में सीडीपीओ से पुछने पर बताया गया कि इस प्रखंड में कुल 145 आंगनबाड़ी केन्द्र है जिसमें 17 अपने भवन में संचालित हैं इस पर सभी 17 में बाला पेंटिंगस कराने तथा शेष सभी के लिए जमीन उपलब्ध कराने का निदेश अंचलाधिकारी को दिया गया । जिलाधिकारी वार्ड नं0-13 गये और वहाँ जलापूर्ति की व्यवस्था देखी । वहाँ लोगों ने बताया कि लगभग 16 घंटे बिजली मिल रही है । 

यहाँ के बाद जिलाधिकारी देसरी प्रखंड के जाफराबाद पंचायत के वार्ड नं०- एक स्थित पासवान टोला गये । वहाँ पर जाने के लिए रास्ता नहीं था । इस पर स्थानीय मुखिया एवं अचलाधिकारी को आने - जाने वाली पगडंडी को ही स्थानीय लोगों से बात कर रास्ते के रूप में परिणत कराने का निदेश दिया गया । जिलाधिकारी ने कहा कि ऐसे सभी टोला या बसावट के लिए लोगों से बात कर रास्ता निकालने का प्रयास किया जाय ताकि वहाँ के लोगों को सहुलियत मिल सके । जिलाधिकारी के द्वारा इन तीनों प्रखंडों में भ्रमण के क्रम में प्रखंड विकास पदाधिकारी को निदेश दिया गया कि पीएम आवास के सभी स्वीकृत घरों को 15 अगस्त तक हर हाल में पूर्ण करायी जाय । 

इसके लिए कार्य कैसे पूर्ण हो इसके बारे में बताया गया । जिलाधिकारी ने कहा कि आवास सहायक प्रतिदिन सभी लाभूकों से मिले और कार्य प्रगति का प्रतिवेदन दें । इसके अतिरिक्त स्थानीय दुकानदारों से मिलकर लाभूकों को निर्माण सामग्री अपनी जबावदेही पर उपलब्ध करायी जाय और जब भुगतान हो तो दुकानदार का पैसा अपने सामने लाभूक से दिलायी जाय । भ्रमण के समय जिलाधिकारी के साथ उपविकास आयुक्त श्री चित्रगुप्त कुमार , अनुमंडल पदाधिकारी महनार श्री सुमित कुमार एवं अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे ।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!