Breaking News

कई जगहों पर छात्र-छात्राओं ने की गुरु पूजा


वैशाली: 
गुरु पूर्णिमा पर बुधवार को यहां मठ मंदिरों में पूजन के लिए श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी।वही गायत्री शक्तिपीठ रानीपोखर डुमरी में हवन यज्ञ के साथ गुरु गोष्ठी का आयोजन किया गया। यहां शाम में श्रद्धालुओं ने गुरु के सम्मान में दीप जलाए।

महुआ के कालीघाट स्थित विभिन्न देवी देवताओं के मंदिरों पर पूजन के लिए श्रद्धालुओं की भारी भीड़ उमड़ी। यहां भजन कीर्तन से स्थल को भक्ति में डुबो दिया। वही फुलवरिया पश्चिम स्थित काली मंदिर पर श्रद्धालुओं ने पहुंचकर पूजा अर्चना की। यहां महिलाओं की भीड़ गुरु पूर्णिमा पर माता की पूजन के लिए अहले सुबह से ही पहुंचने लगे शुरु हो गई थी। यहां श्रद्धालुओं ने माता की पूजा अर्चना कर सुख समृद्धि के साथ क्षेत्र की खुशहाली के लिए प्रार्थना की। विष्णु मंदिर सेहान, शिव शक्ति धाम सरसई, शिव मंदिर बोअरिया, कोआरी, प्रेमराज, सिंघाड़ा, डुमरी, हरपुर, रामपुर, बाबा बटेश्वरनाथ, पहाड़पुर, कन्हौली, बैजनाथपुर, बरियारपुर आदि स्थानों के मंदिरों पर पूजन के लिए दिन भर श्रद्धालुओं का तांता लगा रहा। इस मौके पर महिला श्रद्धालुओं द्वारा भजन कीर्तन से क्षेत्र को भावमय बना दिया गया। गायत्री शक्तिपीठ रानीपोखर डुमरी में हवन यज्ञ में श्रद्धालुओं ने मन के बुराइयों को त्यागा और विश्व कल्याण के लिए प्रार्थना की। यहां श्रद्धालुओं ने अपने अपने गुरुओं को नमन किया। यहां दिन भर अखंड गायत्री जाप किया गया। वही शाम को दीपोत्सव कार्यक्रम में श्रद्धालुओं ने दीए जलाएं। शक्तिपीठ गोविंदपुर में तो श्रद्धालुओं की भीड़ से अफरातफरी का माहौल रहा। उधर महुआ के अक्षरा शिक्षण संस्थान पर गुरु पूजन का आयोजन किया गया। यहां संजय कुमार सिंह, शंभू प्रसाद सिंह, मुकेश कुमार सिंह आदि मुख्य रूप से उपस्थित थे। स्कूलों में भी गुरु पूजन का आयोजन किया गया। यहां गद्दोपुर स्थित बाबा केशवानंद स्वामी के समाधि स्थल रासमंडल पर भी पूजन के लिए दिनभर भीड़ रही।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!