Breaking News

जिला समन्वय समिति की बैठक कर जिलाधिकारी ने की विकास कार्यों के प्रगति की समीक्षा


वैशाली: हाजीपुर
:_ जिलाधिकारी श्री यशपाल मीणा के द्वारा जिला स्तरीय पदाधिकारियों के साथ अपने कार्यालय कक्ष में जिला स्तरीय समन्वय समिति की बैठक कर जिला में चल रहे विकास के कार्यों की समीक्षा की गयी और कहा गया कि वैसे सभी विभागीय पत्र जिसके अनुपालन में दूसरे विभाग के सहयोग की आवश्यकता है तो उसके बारे में बतायी जाय । जिलाधिकारी ने अपने गोपनीय पदाधिकारी को निदेश दिया कि वैसे सभी महत्वपूर्ण पत्रों को अलग से संधारित कर आगे से इस बैठक में उपस्थापित किया जाय ताकि गुणवत्ता के अनुरूप कार्यों का अनुपालन कराया जा सके । 

जिलाधिकारी ने कहा कि जिला कि यह सबसे महत्वपूर्ण बैठक होती है जिसका उद्देश्य है विभिन्न विभागों में समन्वय स्थापित कर कार्यों को गति देना । जिलाधिकारी के द्वारा बैठक में उपस्थित सभी पदाधिकारियों से उनके विभाग में चल रहे कार्यों की जानकारी ली गयी और जरूरी निदेश दिये गये । जिला प्रोग्राम पदाधिकारी स्थापना ( शिक्षा विभाग ) को निदेश दिया गया कि जिला के सभी विद्यालयों का प्रोफाइल बनायें जिसमें स्कूल में छात्र - छात्राओं की संख्या , शिक्षकों की संख्या शिक्षक किस नियोजन इकाई के हैं , विद्यालय में चाहरदिवारी , बिजली , पेयजल एवं बैठने के बेंच की उपलब्धता एवं विद्यालय के लिए पहुँचपथ की जानकारी रहे ।

 जिलाधिकारी ने प्रखंडवार सभी शिक्षकों की उपस्थिति अनुपस्थिति एवं अवकाश पर रहे शिक्षकों की संख्या 10:30 बजे तक डीआरडीए को उपलब्ध कराने का निदेश दिया गया चुकि उपविकास आयुक्त ही शिक्षा विभाग के वरीय पदाधिकारी हैं । इसके साथ - साथ 04:00 बजे तक कितने शिक्षक विद्यालय में उपस्थित रहे इससे संबंधित प्रतिवेदन 04:30 बजे तक जिलाधिकारी के गोपनीय शाखा में भेजे । जिलाधिकारी के द्वारा निदेश दिया गया कि प्रत्येक प्रखंड में 20 से 30 विद्यालयों का चयन कर उन्हें बाला प्रोजेक्ट के आधार पर विकसित करायें । पदाधिकारी जब भी क्षेत्र भ्रमण करें तो इसकी जानकारी प्राप्त करें कि गरीब परिवार के बच्चे विद्यालय जा रहे हैं कि नहीं पदाधिकारी इसके लिए आधे - अधूरे मन से नहीं बल्कि सच्चे मन से प्रयास करें । 

जिला आपूर्ति पदाधिकारी को निदेश दिया गया कि एक कॉल सेन्टर बनवायें जिसके माध्यम से दूर - दराज के परिवारों खासकर महादलित परिवारों को राशन मिलने की जानकारी प्राप्त करायें । इसके लिए रेण्डमली फोन करायें और फीडबैक लें । सार्वजनिक वितरण प्रणाली के सभी दुकानों पर 5 के गुणक वाला पट्टी पेंट करवायें ताकि बुजुर्ग महिलाए यह पहचान सकें कि उन्हें कितना राशन दिया जा रहा है । जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने बताया कि 25171 नया राशन कार्ड बनाया गया था जिसका वितरण करा दिया गया है । जून माह में कुल 324 डीलरों की जाँच करायी गयी जिसमें 61 के विरूद्ध शिकायत मिली है जिस पर कार्रवाई की गयी है । एक डीलर पर प्राथमिकी भी दर्ज करायी गयी है । जिला पंचायत राज पदाधिकारी ने बताया अभी तक कुल 41 पंचायत सरकार भवन बनाये गये हैं और सभी क्रियाशील हैं । जिलाधिकारी के द्वारा वहाँ पर अगर अतिक्रमण है तो उसे हटवाने , वृक्षारोपण करवाने तथा 15 अगस्त को झण्डोत्तोलन की व्यवस्था कराने का निदेश दिया गया ।

जिलाधिकारी ने कहा कि सभी मुखिया से पंचायतों को आदर्श पंचायत बनाने के लिए जरूरी सभी प्रस्ताव लिया जाय जिसमें सभी मुखिया का विजन पता चल सके । अगर किसी वार्ड क्रियांवयन प्रबंधन समिति के द्वारा पूर्व में राशि की निकासी कर ली गयी है और कार्य नहीं कराया गया है तो इसकी सूची प्रखंड पंचायत राज पदाधिकारी से प्राप्त करें और नियमानुसार कार्रवाई करें । आरटीपीएस के तहत् प्राप्त आवेदनों की समीक्षा में पाया गया कि निर्धारित समयावधि से अधिक के मात्र 57 आवेदन ही लंबित हैं जिसमें से 51 अकेले राघोपुर प्रखंड से संबंधित है । जिलाधिकारी के द्वारा इसे भी निष्पादित कराने तथा सभी आरटीपीस काउण्टर के पास शेड लगवाने , वहाँ रंगरोदन कराने एवं वहाँ बैनर - फ्लैक्स लगवाने का निदेश दिया गया ।

 निदेशक डीआरडीए के द्वारा बताया गया कि जिला को 75 अमृत सरोवर के निर्माण का लक्ष्य प्राप्त था परन्तु उससे अधिक 82 पर कार्य कराया जा रहा है और इसे 15 अगस्त के पूर्व पूर्ण करा लिया जाएगा । जिलाधिकारी ने कहा कि वहाँ वोर्ड बनवा दें , पौधारोपण कराये एवं 15 अगस्त को झण्डोत्तोलन की व्यवस्था करायी जाय । विशिष्ट दत्तक ग्रहण संस्थान के बारे में पूछने पर सहायक निदेशक जिला बाल संरक्षण ईकाई के द्वारा बताया गया कि अभी वहाँ पाँच बच्चें आवसिंत है । वहाँ पर एक एएनएम तथा होमगार्ड की प्रतिनियुक्ति कराने का निर्देश दिया गया । समीक्षा बैठक में अनुपस्थित श्रम अधीक्षक डीपीओ ( आईसीडीएस ) , जिला प्रबंधक राज्य खाद्य निगम एवं कार्यापालक अभियंता पथनिर्माण विभाग को गम्भीरता से लिया गया और इनसे स्पष्टीकरण करने का निदेश दिया गया । इस बैठक में जिलाधिकारी के साथ अपर समाहर्ता श्री जितेन्द्र प्रसाद साह , उप विकास आयुक्त श्री चित्रगुप्त कुमार , जिला आपूर्ति पदाधिकारी श्री अरूण कुमार सिंह , निदेशक डीआरडीए श्री संजय कुमार निराला , सदर एसडीओ श्री अरूण कुमार , सदर डीसीएलआर श्री स्वप्निल , जिला पंचायतराज पदाधिकारी श्री हरेन्द्र राम सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!