Breaking News

तीन दिवसीय राष्ट्रीय स्तर कृषि अधिवेशन का किया गया आयोजन


वैशाली: 
सहदेई बुजुर्ग-राज्य का पहला सेंटर आफ एक्सिलेंस फार फ्रूट्स केन्द्र सहदेई बुजुर्ग प्रखंड क्षेत्र के पहाड़पुर तोई में सब्जी और आम के उत्पादक को लेकर तीन दिवसीय राष्ट्रीय स्तर कृषि अधिवेशन का आयोजन किया गया। अधिवेशन का उदघाटन इजरायल के कृषि वैज्ञानिक यायर एशेल, क्वीफ लव उद्यान निदेशक नंद किशोर,डा. एस. के सिंह प्रमुख विभाग एफ एंड एचटी, परियोजना पदाधिकारी प्रसांत कुमार, इजरायल दूतावास सह परियोजना अधिकारी बृहमा देव ने दीप प्रज्वलित कर किया। कार्यक्रम का उदघाटन 

के बाद विभिन्न राज्य से आए हुए वैज्ञानिक और विशेषज्ञों के बीच

भारत और इजरायल में कृषि के क्षेत्र में किस तरह से विकास हो। इसको लेकर चर्चा की गई। अधिवेशन में कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, तेलंगाना, उत्तर प्रदेश,गोआ, महाराष्ट्रा, दिल्ली, आसाम और तमिलनाडु समेत दस राज्यों के कृषि वैज्ञानिकों ने जानकारी आदान प्रदान किया। तीन दिवसीय अधिवेशन के पहले दिन जैविक कोरीडोर को बढ़ावा देते हुए सब्जी के उत्पादन पर विशेष रुप से चर्चा की गई। साथ ही वैज्ञानिकों ने कहा कि बिहार और भारत के विभिन्न राज्यों में उत्पादन किया गया सब्जी हर नागरिकों के थाली में भारतीय व्यंजन शामिल हो, इसको लेकर भी प्रयास किया जाए।

वहीं उच्च गुणवत्ता और इजरायल तकनीक को अपनाते हुए देश के किसानों को प्रशिक्षण देकर समृद्ध बनाने को लेकर भी विशेष रुप से चर्चा की गई। कार्यक्रम में 10 राज्यों के कृषि वैज्ञानिकों के साथ साथ उद्यान के उप निदेशक उपेंद्र कुमार, उप निदेशक नितेश कुमार राय, सहायक निदेशक विजय कुमार पंडित, ओमप्रकाश मिश्रा, तृप्ति झा, वरीय वैज्ञानिक डा. रंधिर कुमार, वैज्ञानिक सपना कुमारी, इंचार्ज आलोक कुमार,अंकित उपाध्यक्ष, उद्यान पदाधिकारी राजेश कुमार, लेवर इंचार्ज प्रकाशचंद शर्मा,कुन्दन कुमार के अलावा अन्य मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!