Breaking News

रोस्टर का अनुपालन नहीं करने वाले चिकित्सकों पर कार्रवाई करें- जिलाधिकारी

 


रिपोर्ट प्रभंजन कुमार

 हाजीपुर: जिलाधिकारी श्री यशपाल मीणा के द्वारा 18 अगस्त की संध्या में लालगंज रेफरल अस्पताल के औचक निरीक्षण के दौरान पायी गयी कमियों को दूर कराने को लेकर अपने कार्यालय कक्ष में सिविल सर्जन , अस्पताल उपाधीक्षक और डीपीएम स्वास्थ्य के साथ बैठक कर कई जरूरी निर्देश दिया गया । इस अवसर पर अपर समाहर्ता श्री विनोद कुमार सिंह और उप विकास आयुक्त श्री चित्रगुप्त कुमार भी उपस्थित थे । जिलाधिकारी ने स्पष्ट कर दिया कि चिकित्सक रोस्टर के अनुसार अपनी सेवायें दें और निजी प्रैक्टीस से दूर रहें । उन्होने कहा कि डूयूटी अवधि में कोई चिकित्सक अगर निजी प्रैक्टीस करते हैं तो उन पर कार्रवाई की जाय । सभी चिकित्सकों से इस आशय का पत्र प्राप्त करें कि उनके द्वारा ड्यूटी अवधि में निजी पैक्टीश नहीं की जाती है । सभी पीएचसी पर डूयूटी का रोस्टर , एम्बुलेंस एवं जेनरेटर का लॉगबुक संधारित करायी जाय तथा एएनएम , जीएनएम की उपस्थिति सुनिश्चित करायी जाय । जिलाधिकारी ने कहा कि जिला स्वास्थ्य समिति के पास कितने एम्बुलेंस हैं कितने चालक हैं , कितने एम्बुलेंस परिचालित कराये जा रहे हैं सभी का रिकार्ड बतायें तथा किसी भी अस्पताल परिसर में दलाल नहीं दिखना चाहिए . यह सुनिश्चित करायें । जिलाधिकारी ने कहा कि जिस तरह से सभी विद्यालयों में शिक्षकों की उपस्थिति सुबह - साम ली जा रही है वही व्यवस्था सभी 16 पीएचसी के लिए भी अपनायी जाय । डीपीएम को निर्देश दिया गया कि रोस्टर बार पीएचसी में उपस्थिति की विवरण उप विकास आयुक्त के कार्यालय को समय से भेजने की व्यवस्था करायी जाय । जिलाधिकारी के द्वारा सिविल सर्जन से स्पष्टीकरण करने का निदेश दिया एवं कहा गया कि सिविल सर्जन यह स्पष्ट करें कि चिकित्सक रोस्टर के अनुसार ड्यूटी क्यों नहीं कर रहे हैं । जिलाधिकारी ने कहा कि सभी पीएचसी का लैण्ड लाईन टेलिफोन चालू स्थिति में रखें जिस पर कभी भी डीडीसी कार्यालय से फोन कर जरूरी जानकारी ली जाएगी । डीपीएम को निर्देश दिया गया कि अगर सिविल सर्जन सहयोग नहीं कर रहे हैं तो बता दिया जाय परन्तु हर हाल में स्थिति सुधारनी होगी । लालगंज के बीएचएम के स्थानान्तरण के प्रश्न पर बताया गया कि उनका पातेपुर स्थानान्तरण कर दिया गया है ।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!