Breaking News

हज यात्रा के लिए जा रहे आजीम मियां को दी गई विदाई


सोनो जमुई संवाददाता चंद्रदेव बरनवाल की रिपोर्ट 

जमुई जिला अंतर्गत चरका पत्थर थाना क्षेत्र के सरकंडा गांव निवासी 60 वर्षिय आजीम मियां हज उमराव यात्रा के लिए सोमवार को सोनो से प्रस्थान किये । इस दौरान बड़ी संख्या में उपस्थित हिंदू और मुस्लिम समुदाय के लोगों ने उन्हें फुल माला पहनाकर श्रद्धा पूर्वक विदाई दिये । विदाई देने वालों में मोईन अंशारी , मुन्ना मियां , डीलर क्युम अंशारी , छोटु मियां , इसुफ मियां , साग्रीम अंशारी , मुस्ताक मियां , नुरुल हशन , रुस्तम अंशारी , मजबुल मियां सहित अन्य गणमान्य लोग शामिल थे ।

बताया जाता है कि मक्का मदीना का हज यात्रा इस्लाम समुदाय के लोगों के लिए सबसे पवित्र और पाक यात्रा मानी जाती है । जिसके माध्यम से वे अपने परवर दिगार का दीदार करते हैं । यह यात्रा मस्जिद अल रहम में स्थित काबा मस्जिद का दीदार ओर मक्का मदीना में पैगम्बर मोहम्मद के जन्म स्थल ओर अल्लाह के इबादत खाने जैसी पाक जगहों के दीदार से पुर्ण होती है । साथ ही पाक कुरान शरीफ के अनुसार मुस्लिमो के पांच अनिवार्य कर्मों में शहादा , सलत , जकात ओर स्वान हज में शामिल हैं । कुरान शरीफ के अनुसार हर मुसलमान को जो आर्थिक और शारीरिक रूप से सक्षम हें उन्हें अपने जीवन में एक बार हज यात्रा करना अनिवार्य होता है । ऐसे में हर मुस्लिम की यह दिली इच्छा होती है कि वह एक बार अपने परवर दिगार के दीदार का हज यात्रा अवश्य करें । मक्का को इस्लाम के संस्थापक पैगंबर मोहम्मद साहब का जन्म स्थान माना जाता है ऐसे में इस पाक स्थल का दीदार सभी मुस्लिमो के लिए स्वर्ग की दीदार के समान माना जाता है । ज्ञात हो कि मक्का और मदीना दोनों ही पवित्र स्थल सऊदी अरब में स्थित है ।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!