Breaking News

जिला और अनुमंडल लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी को दी गई भावभीनी विदाई


जमुई से सुशील कुमार की रिपोर्ट

जिला कलेक्टर अवनीश कुमार सिंह की अध्यक्षता में स्थानीय सरकारी अतिथि गृह में जिला प्रशासन ने भव्य समारोह आयोजित कर जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी प्रतिभा कुमारी और अनुमंडल लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी मो. शफीक को भावभीनी विदाई दी। मौके पर स्थानांतरित पदाधिकारी द्वय का पुष्प गुच्छ, अंग वस्त्र एवं स्मृति चिन्ह देकर बहुमान किया गया और उन दोनों के स्वस्थ तथा दीर्घायु जीवन की कामना की गई। सर्वविदित है कि प्रतिभा कुमारी को स्थानांतरण के उपरांत उल्लेखित पद पर बांका में पदस्थापित किया गया है वहीं तबादले के साथ मो. शफीक नालंदा, बिहारशरीफ के डीसीएलआर बनाए गए हैं। विदाई समारोह मायूसी के दौर में संपन्न हुआ। 

जिला कलेक्टर श्री सिंह ने मौके पर कहा कि प्रतिभा कुमारी और मो. शफीक ने लोक शिकायत निस्तारण के मामले में सूबे बिहार में जमुई जिला को लगातार तीन माह से शिखर पर बिठाकर रखा था, जो काबिले तारीफ है। पदाधिकारी द्वय इस उपलब्धि के लिए बरबस याद आएंगे। उन्होंने उन दोंनो के स्वस्थ और लंबी उम्र की कामना की। पुलिस अधीक्षक डॉ. शौर्य सुमन ने प्रतिभा कुमारी और मो. शफीक को युवाओं का प्रेरणा स्रोत करार देते हुए कहा कि तबादला सरकारी नौकरी का एक अभिन्न अंग है। इससे सभी संबंधित जनों को रूबरू होना ही पड़ता है। एसपी ने पदाधिकारी द्वय के कार्यशैली की जमकर तारीफ करते हुए कहा कि इन दोनों के सरल स्वभाव , मृदुभाषी और कार्य के प्रति निष्ठा से जिलावासी काफी प्रभावित हैं। डॉ. सुमन ने प्रतिभा और शफीक के सुखद जीवन की कामना की। डीडीसी शशि शेखर चौधरी ने कहा कि पदाधिकारी द्वय किसी भी कार्य को सरल तरीके से हल करने में निपुण थे वहीं एडीएम सुरेंद्र कुमार मिश्र ने उन दोनों को गरीब, असहाय समेत सभी वर्ग के लोगों का हित रक्षक करार दिया। 

स्थानांतरित जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी प्रतिभा कुमारी ने विदाई समारोह आयोजन के लिए आयोजकों को साधुवाद देते हुए कहा कि वे जिलाधिकारी समेत तमाम अधिकारियों , कर्मियों एवं जिलावासियों के अमिट सहयोग की ऋणी रहेंगी। अनुमंडल लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी मो. शफीक ने कहा कि वे भारी मन से जमुई को अलविदा कह रहे हैं। उन्हें जो सम्मान, प्यार और पहचान यहां मिला वह उम्मीद से कहीं ज्यादा है। जमुई हमारे जेहन में खास स्थान रखेगा। मैं चाहता हूं कि यहां पुनः आऊं। नौकरी कैसे करना चाहिए, यह जमुई ने बखूबी से सिखाया है। यहां से मैं परिपक्व पदाधिकारी बनकर डीसीएलआर के पद पर नालंदा, बिहारशरीफ जा रहा हूं, जो मेरे लिए एक अलग उपलब्धि है। मैं विभागीय मदद के लिए जमुई के कुशल जिलाधिकारी, एसपी, तमाम पदाधिकारी, अधीनस्थ कर्मी, कलमबाज एवं आमजनों को जेहन से प्रणाम, सलाम और आदाब करता हूं। मैं भविष्य में अगर किसी के कोई काम आ जाऊं, तो अपने - आपको सौभाग्यशाली समझूंगा। अलविदा जमुई।

     एसडीएम अभय कुमार तिवारी, एसडीपीओ डॉ. राकेश कुमार, सूचना एवं जनसंपर्क अधिकारी आर. के. दीपक आदि अधिकारियों ने भी विदाई समारोह को संबोधित किया और स्थानांतरित पदाधिकारी द्वय के स्वर्णिम भविष्य की कामना की।

       डीआरडीए के निदेशक स्वतंत्र कुमार सुमन, वरीय उप समाहर्त्ता भारती राज, सूरज कुमार, डीआईओ राकेश कुमार, डीएसपी मुख्यालय अभिषेक सिंह, पुलिस लाइन डीएसपी आशीष कुमार सिंह, जिला शिक्षा पदाधिकारी कपिलदेव तिवारी समेत अधिकांश अधिकारी एवं गणमान्य नागरिक मौके पर उपस्थित थे। डीटीओ कुमार अनुज ने रोचक अंदाज में कार्यक्रम का संचालन किया और प्रशंसा के पात्र बने। कार्यक्रम गम के दौर में संपन्न हुआ।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!