Breaking News

गैंगरेप मामले पर पूर्व सीएम मांझी का विवादित बयान, बोले- राज्य की जनसंख्या 12 करोड़ है तो इस तरह की घटनाएं होती रहती हैं


वैशाली
। बिहार के वैशाली में बॉयफ्रेंड के सामने नाबालिग से गैंगरेप मामले पर बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी ने संवेदनहीन बयान दिया। उन्होंने कहा कि राज्य की आबादी 12 करोड़ है। इस तरह की घटना होती रहती है। रेप पर मांझी ने कहावत पेश करते हुए कहा कि एक साथ बर्तन रहता है तो ढनमन करता ही रहता है। वहीं, जीतन राम मांझी ने वैशाली में हुए नाबालिग रेपकांड की घटना को साजिश बताते हुए कहा कि ऐसी घटना में साजिश भी हो सकती है। सरकार को बदनाम करने के लिए भी हो सकता है। लेकिन बिहार में नीतीश कुमार के नेतृत्व में कार्रवाई तुरंत की जाती है। ऐसे में जल्द ही आरोपियों की गिरफ्तारी होगी। बता दे की वारदात के 4 दिन बाद पुलिस ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। अभी एक फरार है। पुलिस ने सिर्फ गिरफ्तारी की पुष्टि की है, लेकिन ये नहीं बताया है कि कौन-कौन गिरफ्तारी हुए हैं। मुख्य आरोपी गिरफ्तार हुआ है कि नहीं अभी पुलिस ने इसपर कुछ नहीं बोला है।

4 दिन से पीड़िता और प्रेमी गायब

वैशाली के जंदाहा की जिस नाबालिग छात्रा से गैंगरेप हुआ था, वो अब गायब है। गैंगरेप पीड़िता ना तो घर पर है और ना ही अस्पताल में। बीते दो दिनों से परिवार का ना ही पीड़िता से संपर्क हो सका है, ना ही उसकी मां से। परिजनों को शक है कि पुलिस अब पीड़ित छात्रा को जांच और बयान का हवाला देते हुए मीडिया से छिपाने के प्रयास में जुट गई है। नाबालिग छात्रा को पुलिस पिछले 4 दिनों से अपने कस्टडी में लिए हुए है। इलाज एवं 164 का बयान दिलाने का हवाला देते हुए नाबालिग छात्रा को गायब किए हुए है। इसको लेकर पीड़िता के परिजन और स्थानीय लोग आशंकित हैं। लोगों को अंदेशा है कि पुलिस अपने काम में लापरवाही बरत रही है और इस तरह आरोपियों की मदद कर रही है। गैंगरेप की घटना के पांच दिन बीत गए हैं। बीते 8 सितंबर को ही बॉयफ्रेंड के सामने नाबालिग का 5 लोगों ने रेप कर वीडियो बनाया था। अब इस मामले में पीड़िता के बारे में पूछने पर कोई भी पुलिस अधिकारी खुलकर कुछ बोलने को तैयार नहीं है।

चार दिन बाद 4 आरोपी गिरफ्तार, एक अब भी फरार

गैंगरेप करने वाले 5 आरोपियों में से चार को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। बाकी एक आरोपी अब भी पुलिस गिरफ्त से दूर हैं। एसपी ने कहा कि जल्द ही सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। इसके पहले वैशाली पुलिस ने घटना के मास्टरमाइंड आरोपी अमोद कुमार दास के पिता और छोटे भाई को हिरासत में ले लिया था। बताया जा रहा हैं की रेप का वीडियो बनाकर लिया। बाद में रेप का वीडियो सोशल मीडिया पर डाल दिया। 11 सितंबर को वीडियो वायरल होने लगा। इसके बाद पुलिस ने जांच शुरू की। वीडियो में दिख रहा है कि लड़की और उसके प्रेमी को कुछ युवक घेरे हुए हैं। वे उसके कपड़े लिए हुए हैं। लड़की और उसका प्रेमी छोड़ने की गुहार लगा रहे हैं, लेकिन युवक मानने को तैयार नहीं है। इसके बाद लड़की के साथ रेप करते हैं।

वीडियो सामने आया तब परिवार को पता चला

रविवार को वीडियो सामने आने के बाद क्षेत्र में हंगामा हो गया था। चाची ने बताया कि लड़की के मम्मी-पापा यहां नहीं थे। वो लोग काम करने गए थे। जब वीडियो सामने आया तब हम लोगों को इस मामले का पता चला। चाचा का कहना है कि वह स्कूल के लिए निकली थी। रास्ते में बजरंग बली का मंदिर है, वही से उसे हथियार के बल पर उठा लिया गया। वो 9वीं में पढ़ती है। वीडियो वायरल हुआ तो हमें पता चला। कुछ लोगों ने मामले को रफा-दफा करने के लिए परिवार के लोगों पर दबाव भी बनाया।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!