Breaking News

नल जल योजना की राशि के गबन में मुखिया गिरफ्तार


वैशाली:
राघोपुर प्रखंड क्षेत्र के चक सिंगार पंचायत के वार्ड संख्या छह में नल जल योजना की राशि गबन के मामले में चक सिंगार पंचायत के निवर्तमान मुखिया लाल बहादुर पासवान को पुलिस ने उसके ससुराल राघोपुर थाना क्षेत्र के फतेहपुर गांव से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। प्राप्त समाचार के अनुसार राघोपुर प्रखंड क्षेत्र के चक सिंगार पंचायत के वार्ड संख्या छह में 2 साल पहले मुख्यमंत्री नल जल योजना के तहत बोरिंग एवं जलापूर्ति के लिए पाइप लाइन बिछाने के लिए प्रखंड कार्यालय से 14 लाख रुपए वार्ड को आवंटित किया गया था। लेकिन निवर्तमान मुखिया लाल बहादुर पासवान ने बिना काम किए हैं धोखाधड़ी कर योजना का 14 लाख रुपया निकाल लिया। जिसके बाद वार्ड के लोगों द्वारा वरीय अधिकारियों को शिकायत करने पर मुखिया के खिलाफ 7 मई 2022 को जुड़ा वनपुर थाना में एक प्राथमिकी दर्ज कराया गया था। प्राथमिकी दर्ज होने के बाद मुखिया लाल बहादुर पासवान फरार चल रहा था। जुड़ा वनपुर थानाध्यक्ष मोहम्मद फाहा मुल्ला खान ने बताया कि कुछ सूचना मिली की चक सिंगार पंचायत के निवर्तमान मुखिया लाल बहादुर पासवान जिस पर मुख्यमंत्री नल जल योजना के 14 लाख रुपया गबन करने का आरोपित है । वह राघोपुर थाना क्षेत्र के फतेहपुर गांव में अपने ससुराल में छुपा है । सूचना मिलते ही पुलिस ने फतेहपुर गांव में निवर्तमान मुखिया लाल बहादुर पासवान के ससुराल में छापामारी की । छापामारी के दौरान मुखिया को उसके ससुराल से गिरफ्तार कर जुरावनपुर थाना लाया गया। जिससे पूछताछ के बाद हाजीपुर न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया। थानाध्यक्ष ने बताया कि मुखिया अपने कार्यकाल में मुख्यमंत्री नल जल योजना का 14 लाख रुपया निकाल ली है। एवं श्रृंगार पंचायत के वार्ड संख्या छह में धरातल पर मुख्यमंत्री नल जल योजना का काम नहीं करा सका था। प्राथमिकी दर्ज होने के बाद से चक सिंगार पंचायत के निवर्तमान मुखिया लाल बहादुर पासवान फरार चल रहा था।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!