Breaking News

वैशाली में निगरानी विभाग की टीम ने की कार्रवाई, 2.16 लाख रूपये रिश्वत लेते मुखिया को किया गिरफ्तार


वैशाली:
लालगंज प्रखंड कार्यालय के समीप उस समय अफरा तफरी मच गई जब एतवारपुर सिसौला पंचायत के मुखिया दिनेश महतो को निगरानी विभाग की टीम ने प्रखंड कार्यालय गेट के पास से उठाकर आपने साथ ले गई। खबर है कि टीम ने मुखिया को 2 लाख 16 हजार रुपया घुस लेते हुए दबोचा है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार मुखिया दिनेश महतो किसी काम से ब्लॉक आए थे और ब्लॉक गेट के सामने पान खाकर लौट रहे थे तभी अचानक निगरानी की टीम पहुंची और उन्हें धर दबोचा। आनन-फानन में अपनी गाड़ी में बैठाते हुए उन्हें अपने साथ लेकर चली गई। बतादे की इसके पहले हुए मुखिया के चुनाव में बहुत कम अंतराल से हार का सामना करना पड़ा था। 

               मिली जानकारी के अनुसार एतवारपुर सिसौला पंचायत में पंचायत सरकार भवन की स्वीकृति 2020 में हुई थी। जिसका लगभग काम पूरा कर लिया गया था। उसी पंचायत सरकार भवन में काम कर रहे मजदूरों के ठेकेदार सुरेंद्र साह ने निगरानी अन्वेषण ब्यूरो पटना को 22 सितंबर को आवेदन देकर एतवारपुर सिसौला पंचायत के वर्तमान मुखिया दिनेश महतो पर रिश्वत मांगने का आरोप लगाते हुए कहा है कि पंचायत सरकार भवन में उसने लेबर मेठ का काम किया था। जिसका बिल 20 लाख रुपया बना था। जिसमे से 2 लाख 50 हजार रुपया 3 मार्च 2021 को पंचायत सचिव द्वारा उसके खाते में भेजा गया। उसके बाद हुए पंचायत चुनाव में तत्कालीन मुखिया आशा देवी हार गई और दिनेश महतो निर्वाचित हुए। जिसके बाद वर्तमान मुखिया दिनेश महतो से काम का बचा हुआ पैसा मांगने पर उन्होंने 16 सितंबर को पंचायत सरकार भवन पर बुलाकर कहा कि आवंटन आ गया है। पंचायत सरकार भवन का बाकी काम कराना है एवं आपलोगों का जो भी बकाया है उसमें मेरा कमीशन देकर अपना पैसा ले लीजिए। यदि कमीशन नही दिया गया तो आपका भुकतान नही होगा। रिश्वत की बात को लेकर लेबर ठेकेदार ने निगरानी अन्वेषण ब्यूरो को शिकायत की थी। जिसके बाद कार्यवाही की गई।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!