Breaking News

ई किसान भवन में बैठकर जिलाधिकारी ने की कार्यों की प्रगति की समीक्षा


वैशाली:
जिलाधिकारी श्री यशपाल मीणा औचक निरीक्षण में संध्या 3:30 बजे चेहराकला प्रखंड कार्यालय पहुंचे ।वहां प्रखंड कार्यालय में नहीं बैठ कर पास ही स्थित किसान भवन चले गए और वहीं पर एक-एक पदाधिकारी और कर्मी को बुलाया गया ।प्रखंड के श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी और मनरेगा पीओ के अनुपस्थिति पर उनसे स्पष्टीकरण करने का निर्देश दिया गया ।ई किसान भवन पर कृषि समन्वयक सहित पांच कृषि सलाहकार उपस्थित थे ।बताया गया कि इस प्रखंड में कुल 12 पंचायत है । जिलाधिकारी ने कहा कि सभी कृषि सलाहकार कहां है पता करें और उन्हें बुलाए ।प्रखंड कृषि पदाधिकारी अवकाश पर थे।समन्वयक और सलाहकारों से पीएम- किसान के बारे में पूछताछ की गई और उर्वरकों की उप्लब्धता तथा डीजल अनुदान के आवेदनों की जानकारी ली गई। 

  यहां के सीडीपीओ से आंगनबाड़ी केंद्रों की स्थिति की जानकारी ली गई। सीडीपीओ के द्वारा बताया गया कि कुल 32 आंगनवाडी केंद्र अपने भवन में संचालित हैं जबकि 115 केंद्र निजी भवन में चल रहे हैं ।इस पर अंचलाधिकारी से पूछताछ की गई। अंचला अधिकारी ने बताया कि 5 केंद्र के लिए जमीन चिन्हित कर ली गई है ।जिलाधिकारी ने कहा कि सभी वार्ड और पंचायतों में जो सरकारी भूमि चिन्हित कराई गई है उसकी सूची सीडीपीओ को दे दें ताकि उसके अनुसार भूमि का चयन हो जाए। यह पूछने पर कि कितने केंद्र कीजांच कराई गई है और महिला पर्यवेक्षिक के द्वारा क्या कार्रवाई की गई है ।इस पर सीडीपीओ ने बताया कि कुल 54 चेतावनी, 28केंद्रों से राशि की वसूली तथा 5 सेविका /सहायिका को चयन मुक्त करने मुक्त किया गया है। 

   महादलित टोला के बारे में पूछने पर प्रखंड विकास पदाधिकारी ने बताया कि पूर्व में दिए गए निर्देश के आलोक में 12 पंचायतों में से 9 पंचायतों के सभी 60 महादलित टोले में विकास मित्रों के द्वारा पेंशन ,नल जल ,बिजली, राशन कार्ड आदि से संबंधित सर्वे करा लिया गया है। जिला अधिकारी के द्वारा भूमिहीन परिवार की सूची की मांग की गई ।

 अंचलाधिकारी,राजस्व पदाधिकारी एवं कर्मचारियों के साथ दाखिल खारिज की समीक्षा के क्रम में जिलाधिकारी ने कहा कि किसी के पास ज्यादा आवेदन लंबित नहीं रहना चाहिए और सभी आवेदनों का निष्पादन समय सीमा के अंदर किया जाना सुनिश्चित किया जाय। इसके साथ ही 25 अगस्त के बाद से एक-एक दिन के प्राप्त आवेदनों एवं उसके निष्पादन का लेखा-जोखा भी लिया गया।

   पंचायत सरकार भवन के बारे में पूछने पर बताया गया कि छौराही में पंचायत सरकार भवन अपूर्ण है ,वहां ठेकेदार काम नहीं कर रहा है ।इस पर जिलाधिकारी ने कहा कि ठेकेदार पर कार्रवाई करें और जरूरी हो तो प्राथमिकी दर्ज करा दें ।अपना पंचायत- अपना प्रशासन के कुल कितने आवेदन प्राप्त हुए हैं और कितना का निष्पादन किया गया है ,यह पूछने प्रखंड विकास पदाधिकारी ने बताया कि सभी 12 पंचायतों लगाए गए कैम्प में 312 आवेदन प्राप्त हुए थे जिनका निष्पादन कर दिया गया है ।

  जिलाधिकारी शाहपुर खुर्द पंचायत के वार्ड संख्या 2 में स्थित पुस्तकालय भवन गए ।वहां रखी हुई एक -एक पुस्तकों को देखा ।यहां पर किताबों की सूची बनाकर रखने तथा लाइब्रेरी का उपयोग करने वाले छात्रों की पंजी रखने का निर्देश दिया गया ।यहां से पैदल चलकर जिलाधिकारी उत्क्रमित मध्य विद्यालय शाहपुर खुर्द के परिसर में स्थित कस्तूरबा गांधी विद्यालय गए और बच्चों से मिलकर उनकी पढ़ाई मेडिकल चेकअप ,खाना ,खेलकूद एवं अन्य जानकारी प्राप्त की ।यहां पर सीडीपीओ को नियमित रूप से जाकर बच्चों से बातचीत करने का निर्देश दिया गया। बताया गया कि यहां पर 100 बच्चे नामांकित है ।अभी 52 बच्चे उपस्थित हैं। यहां सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!