Breaking News

सेना के जवान 28 वर्षीय बबलु कुमार सिंह का करेंट लगने से मौत


वैशाली:
सहदेई बुजुर्ग-सहदेई बुजुर्ग प्रखंड क्षेत्र के चकफैज पंचायत के चकेयाज वार्ड संख्या दस निवासी सेना के जवान 28 वर्षीय बबलु कुमार सिंह का करेंट लगने से मौत हो गई। मृतक स्व. रामप्रमोद सिंह के छोटा पुत्र थे। घटना पूर्णिया बाजार के विकास नगर स्थित आवास पर गुरुवार की सुबह करीब आठ बजे घटी। घटना की खबर सुनते ही  परिजनों में चीत्कार होने लगा। और गांव में कोहराम मच गया। साथ ही पुरा इलाका शोक में डूब गया। बबलू कुमार सिंह के मौत होने की खबर पर गांव के सैकड़ों लोग उनके आवास पर पहुंच गए परिवार के सदस्यों को ढांढस बंधाने में जुट गए। घटना को लेकर मृतक के चाचा रविन्द्र सिंह, ग्रामीण अनिल सिंह, भोला सिंह, प्रेमरंजन सिंह, सुजीत सिंह, मुखिया पहलाद पासवान, पूर्व मुखिया सुभाष सिंह के अलावा अन्य ने बताया कि बबलू कुमार सिंह राजस्थान के जसलमेर में सेना में सिपाही के पद पर तैनात थे। वह दशहरा में घर पर 28 दिनों के छुट्टी पर आए थे और दीपावली अपने परिवारों के साथ मनाने के बाद 26 अक्टूबर को वापस राजस्थान चले जाते। वह 18 अक्टूबर को शाम में पूर्णिया स्थित अपने आवास की साफ सफाई करने के उद्देश्य से अकेले  ट्रेन से गए थे। साफ सफाई करने के दौरान वह विधूत प्रवाहित तार के चपेट में आ गए और उनकी मौत हो गई। 

वर्ष 2012 में बब्लू सेना में हुए थे बहाल।

बबलू कुमार सिंह 28 वर्ष के उम्र में ही इस दुनिया को छोड़ कर चल दिए। उनका मौत होने से परिवार के लोग काफी सदमे में है। बब्लू कुमार सिंह ही परिवार का मुख्य सहारा थे, उनका बड़ा भाई दीपक कुमार सिंह आटो चलाते है। बब्लू कुमार सिंह वर्ष 2012 के 27 मार्च को सेना में सिपाही के पद पर चयनित हुए थे। वह अहमदानगर बिकानेर में ट्रेनिंग पुरी की थी। उसके बाद राजस्थान के जसलमेर में तैनात थे। बबलू कुमार सिंह दो भाईयों में छोटा थे। उनका मौत होने पर पत्नी नुतन सिंह, मां चन्द्रा देवी, तीन वर्षीय पुत्री साक्षी सिंह के अलावा अन्य का रो रो के बुरा हाल हो गया है। लोगों ने बताया कि शव को पुर्णिया से सीधा दानापुर कैंट ले जाया जाएगा, उसके बाद देर रात तक शव को घर पर लाने की संभावना है। लोग शव आने का इंतजार कर रहे है। घटना को लेकर पूर्व सांसद रामा किशोर सिंह उर्फ रामा सिंह, विधायक बीना सिंह, राजद के प्रदेश महासचिव श्यामनंद राय जिला महासचिव मनोज राय के अलावा अन्य ने दुख व्यक्त की है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!