Breaking News

छठ घाट की सफाई नही होने से छठ व्रतियों एवं ग्रामीणों में रोष


वैशाली:
लालगंज लोक आस्था का चार दिवसीय महापर्व छठ को लेकर सरकार काफी गंभीर है। राजधानी पटना से लेकर हर जिले और पंचायतों में घाट निर्माण और साफ सफाई युद्धस्तर पर जारी है। मगर इसी पर्व में अवसरवादी अधिकारी कर्मचारी और कुछ नेता अपना खजाना कैसे भरे इस जुगाड में लगे है। ऐसे हालात हैं लालगंज प्रखंड की शहदुल्लाहपुर पंचायत के रसूलपुर गांव का। जहां के वार्ड संख्या 10 में मुखिया द्वारा पोखर पर मनमाने तरीके से सीढी निर्माण कार्य उप सरपंच और ग्रामीणों द्वारा रोके जाने के कारण पंचायत के मुखिया ने छठ घाट की सफाई पर भी ब्रेक लगा दिया। अब छठ पूजा में महज कुछ दिन शेष बचे हैं, मगर सफाई पर ब्रेक लग जाने से छठ व्रतियों के सामने बड़ी परेशानी खड़ी हो गई है। 

आपको बता दें कि इस पोखर पर तीन गांव के छठव्रती भगवान भास्कर को अर्घ्य देने पहुंचते है। मुखिया की कुर्सी पर जो भी बैठा हो हर वर्ष वो इसे अपनी जिम्मेवारी मानकर साफ सफाई करवाते थे। मगर वर्तमान मुखिया ने इस पोखर पर सीढ़ी बनाने की योजना शुरू की, जो छठ व्रतियों के लिए काफी सुलभ होता मगर इसी बीच उप सरपंच और कुछ वार्ड सदस्यों ने आरोप लगाया कि प्रखंड कार्यालय लालगंज की जेई श्रेय भारती और मुखिया की मिली भगत से सीढ़ी निर्माण में गुणवत्ता का ख्याल नहीं रखा गया है। किस योजना और कितने की राशि से और कब तक काम होगा इसकी जानकारी मांगी तो निर्माण कार्य भी रोक दिया गया। हालाकि योजना के संदर्भ में मौके पर कोई बोर्ड भी नहीं लगा था। लोगों द्वारा खोजबीन किए जाने से मुखिया ने इस पोखर को ही अनाथ बना दिया। हलाकि इस घाट की सफाई के बारे में पूछे जाने पर मुखिया प्रतिनिधि जयमंगल साह ने बताया कि छठ से पहले घाट की सफाई करा दी जाएगी। 

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!