Breaking News

डॉक्टर साहब का अजब कारनामा, अस्पताल को बना डाला शराब का कारखाना

उत्पाद विभाग की कार्रवाई में हुआ खुलासा,  डॉक्टर साहब गिरफ्तार 


हाजीपुर(वैशाली)
शराब बंदी की ढोल पीटने वाली सरकार में अब अस्पताल से हो रही शराब की डिलीवरी।जी हां,यह बिल्कुल सच पढ़ा आपने।वो भी बिहार के राजधानी पटना से सटे लोकतंत्र की धरती वैशाली में।जिले के हाजीपुर के सैदपुर रजौली में सुशांत हास्पीटल में शराब का पूरा कारखाना चल रहा था।

गुप्त सूचना पर जब उत्पाद विभाग की टीम वहां पहुंची तो यहां का नजारा देख हैरान रह गई।एक निजी अस्पताल में इलाज करने के सामान के बदले शराब बनाने के हर सामान मौजूद है।अजब डॉक्टर हैं सुरेश कुमार भगत।अस्पताल में इलाज कराने आने वाले मरीज को दवा के बदले देते हैं दारू वह भी विदेशी ब्रांड के बोतल में।उत्पाद विभाग के इंस्पेक्टर गणेश चंद्रा भी हैरान हो गए यह देखकर।इन्होंने बताया कि जब पूरी टीम के साथ यहां गुप्त सूचना के आधार पर छापा मारा तो यहां जो देखा उससे दंग रह गया।टीम ने छापामारी के दौरान शराब की बोतल को छुपाने वाली सुरंग से भी शराब बरामद किए।वहीं अस्पताल में चल रहे शराब फैक्ट्री से शराब बनाने वाली सभी सामान जब्त किए।

खुद डॉक्टर सुरेश कुमार भगत ने बताया कि वह दवा और कुछ केमिकल के द्वारा बहुत दिनों से शराब बना रहा है और इसे शराब पीने वालों तक पहुंचाता है।अस्पताल में शराब का कारखाना की खबर से पूरा वैशाली सन्न है।सभी लोग ऐसे डॉक्टर को सख्त सजा देने की मांग कर रहे हैं।लोगों ने कहा कि जिसे हम लोग धरती का भगवान समझते हैं वही हम लोगों को दवा के बदले जहर(शराब) दे रहा था।धन्यवाद के पात्र हैं उत्पाद विभाग की पूरी टीम।जिसने ऐसे शराबी कारखाने का उद्भेदन किया।वैशाली के लोगों को इस अस्पताल से छुटकारा दिलाया जहां दवा नहीं शराब मिल रहा था।उत्पाद विभाग ने अस्पताल को सील कर दिया है और डॉक्टर को गिरफ्तार कर लिया है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!