Breaking News

वैशाली जिला स्थापना दिवस समारोह का दीप प्रज्ज्वलित कर जिलाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक ने किया विधिवत उद्घाटन


लोकतंत्र पर आधारित 'मैं ही हूँ वैशाली' का किया गया मंचन

 50 चौकीदारों को दिया गया नियुक्ति का पत्र

 10 दिव्यांग जनों को दी गयी ट्राई साईकिल

अनुमंडल एवं प्रखंड स्तर पर भी हुआ कार्यक्रमों का आयोजन

22 लाख 67 हजार की लागत से मद्य निषेद्य विभाग के लिए खरीदी गयी मोटर वोट का जिलाधिकारी के द्वारा फीता काट कर किया गया शुभारंभ इस वोट से दियारा क्षेत्र में पेट्रोलिंग प्रभावी रूप में की जा सकेगी।

• सदर प्रखंड परिसर में निर्मित प्रखंड सूचना एवं प्रौद्योगिकी केन्द्र भवन का जिलाधिकारी ने फीता काटकर किया विधिवत् शुभारंभ डीआरसीसी में रोजगार मेला (नियोजन कैम्प ) लगाकर 185 युवकों को नौकरी के लिए दी गयी सहमति पत्र

 • ग्रामीण क्षेत्रों में निकाली गयी प्रभात फेरी

• हाई स्कूल के छात्रों ने निकाली साईकिल रैली

• नगरीय क्षेत्रों में चलाया गया स्वच्छता अभियान

जीविका के द्वारा मद्य निषेद्य रैली निकालकर लोगों को किया गया जागरूक हाजीपुर, महुआ एवं महनार अनुमंडल में वितरित किया गया नया राशन कार्ड

• सदर अस्पताल में लगाया गया ब्लड डोनेशन कैम्प

हाजीपुर, 50 वाँ वैशाली जिला स्थापना दिवस समारोह का मुख्य आयोजन समाहरणालय सभागार हाजीपुर में किया गया जिसका उद्घाटन जिलाधिकारी श्री यशपाल मीणा एवं पुलिस अधीक्षक श्री मनीष के द्वारा संयुक्त रूप से विधिवत दीप प्रज्ज्वलित कर किया गया। इस अवसर पर सभी जिला स्तरीय पदाधिकारी, समाहरणालय संवर्ग के कर्मीगण, जिले के गणमान्य उपस्थित थे। समरोह में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि लोकतंत्र की जननी वैशाली देश की स्वाधीनता के पश्चात् आधुनिक व्यवस्था में जिला ईकाई के रूप में आज के ही दिन सन् 1972 में अस्तित्व में आया। इस पवित्र भूमि को भगवान बुद्ध की कर्मभूमि, भगवान महावीर की जन्मभूमि एवं विश्व के प्रथम गणतंत्र की मातृभूमि होने का गौरव प्राप्त है। जिला स्थापना दिवस के शुभ अवसर पर आयोजित इस समारोह में मैं आप सभी का हार्दिक अभिनंदन करता हूँ।

 यह खुशी की बात है कि वैशाली जिला आज अपने स्थापना का 50 वाँ वर्ष मना रहा है, पर इससे भी अधिक खुशी इस बात की है कि इस अवधि ( अर्धशतक) को पूरा करते समय हम स्वस्थ, प्रगतिशील, आशावान और उर्जावान हैं। वैशाली वासियों के लिए यह बड़े गौरव की बात है। इस शुभ अवसर पर मैं यहाँ की महान परम्परा को अक्षुण्ण बनाये रखने वाले लोगों का नमन करता हूँ, भाई-बहनों को प्यार का संदेश देने के साथ-साथ एक नये वैशाली के निर्माण के लिए बच्चों को ढेर सारी शुभकामनाएँ भी देता हूँ।वैशाली जिला आज प्रगति के पथ पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। इस दौरान महिला सशक्तीकरण, सामाजिक न्याय सेवा का अधिकार तथा समग्र विकास के लिए काफी कार्य किया गया है।जिला प्रशासन द्वारा विकास के कार्यों को गति दी गयी है। सरकार की सात निश्चय की योजनाओं में मुख्यमंत्री ग्रामीण पेयजल निश्चय योजना एवं मुख्यमंत्री ग्रामीण गली-नाली पक्कीकरण निश्चय योजना का शत्-प्रतिशत लक्ष्य प्राप्त करते हुये प्रत्येक टोला को बिजली कनेक्शन से अच्छादित कर दिया गया है। इसके अतिरिक्त शौचालय निर्माण, युवाओं को अर्थिक मदद, रोजगारोन्मुखी शिक्षा, महिलाओं की भागीदादी बढ़ाने हेतु आरक्षण को विस्तार देते हुये सात निश्चय पार्ट-2 में प्रत्येक सड़क पर स्ट्रीट लाईट, ठोस और तरल अपशिष्ट प्रबंधन हर खेत को सिंचाई हेतु पानी उपलब्ध कराने का संकल्प लिया गया है।शिक्षा को विकास की धूरी माना गया है। वैशाली जिला में बच्चों की शैक्षिणिक विकास के साथ-साथ सह-शैक्षिणिक गतिविधियों के संचालन, छात्र केन्द्रित बाल अधिगम तथा शिक्षा की सुलभ पहुँच हेतु नवाचारी प्रयास किये जा रहें हैं। जिला के सभी पंचायतों में माध्यमिक अथवा उच्चतर माध्यमिक विद्यालय संचालित है। नवाचार के रूप में सभी पंचायतों में पुस्तकालय खोला जा रहा है जिसमें सभी तरह के प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी करने के लिए जरूरी पुस्तक एवं पत्रिका सुगमता से उपलब्ध रहेगी। ये पुस्तकालय आगे चल कर सामाजिक-आर्थिक परिवर्तन का सूत्रधार बनेंगे।जिला प्रशासन वैशाली जन शिकायतों के समाधान के लिए कृत संकल्पित है। इस दिशा में नवाचार के रूप में अपना पंचायत अपना प्रशासन की व्यवस्था के तहत् स्थानीय स्तर पर ही जन शिकायतों का निष्पादन किया गया। यह कार्यक्रम 15 जून 2022 से प्रारंभ किया गया और जिला के सभी 278 पंचायतों में प्रशानिक कैम्प लगाया

जा चुका है। इसके अतिरिक्त प्रखंड स्तर पर प्रशासन आपके द्वार का कार्यक्रम भी किया जा रहा है।वैशाली को उत्तर बिहार का प्रवेश द्वार भी माना जाता है। पूर्व में निर्मित महात्मा गाँधी सेतु जो कि उत्तर बिहार का राजधानी पटना से जोड़ने का एकमात्र पुल था, जिसे लगभग 2,000 करोड़ रूपये की लागत से पुर्ननिर्माण कर इस वर्ष जून माह में पूर्णरूप से चालू कर दिया गया है। इसके समानांतर 4-लेन का अतिरिक्त पुल निर्माणधीन है। कच्ची दरगाह से बिदुपुर 6-लेन निर्माणधीनपुल को एन0एच0-119डी के द्वारा दरभंगा से जोड़ा गया जिससे मिथलांचल के लोगों को सीधे पटना जाने का संपर्क मिल जायेगा। पटना से सीमावर्ती क्षेत्र को जोड़ने के लिए वैशाली केसरिया होते हुए साहेबगंज तक सड़क निर्माण किया जा रहा है। जिले की पहचान महात्मा बुद्ध की कर्म भूमि में अभिषेक पुष्कर्णी के निकट बुद्ध समयक दर्शन संग्रहालय का निर्माण किया जा रहा है। जहाँ पर उनसे जुड़ी सभी महत्वपूर्ण घटनाओं की प्रदर्शनी तथा उनसे जुड़ी वस्तुओं को एक छत के नीचे प्रदर्शित किया जायेगा। इस प्रकार वैशाली जिला विकास के पथ पर निरंतर अग्रसर है।इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक ने कहा कि वैशाली की गौरवशाली इतिहास एवं परम्परा है। आज के दिन हम सभी लोगों को इसे आगे बढ़ाने का संकल्प लेना चाहिए। यहाँ भरपूर संसाधन उपलब्ध है। इसका बेहतर इस्तेमाल कर वैशाली को विकास का एक नया आयाम दिया जा सकता है।50 वाँ जिला स्थापना दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी के द्वारा अनुकम्पा एवं स्वैच्छिक सेवा निवृत चौकिदारों के 50 आश्रितों को चौकीदारी का नियुक्ति पत्र दिया गया। नियुक्ति पत्र पाकर सभी चौकीदारों के चेहरे खुशी से खिल उठे।जिला समाजिक सुरक्षा कोषांग के सौजन्य से 10 दिव्यांगजनों को ट्राई साईकिल प्रदान की गयी। हाजीपुर स्थित डीआरसीसी में रोजगार मेला (नियोजन कैम्प लगाकर 185 युवकों को नौकरी के लिए सहमति पत्र दी गयी। 22 लाख 67 हजार की लागत से मद्य निषेध विभाग के लिए खरीदी गयी मोटर वोट का जिलाधिकारी के द्वारा फीता काट कर हाजीपुर के क्लब घाट पर शुभारंभ किया गया। इस वोट से दियारा क्षेत्र में पेट्रोलिंग प्रभावी रूप में की जा सकेगी। सदर प्रखंड परिसर में निर्मित प्रखंड सूचना एवं प्रौद्योगिकी केन्द्र भवन का जिलाधिकारी के द्वारा फीता काटकर विधिवत् शुभारंभ किया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि प्रखंड स्तरीय पदाधिकारियों एवं कर्मियों के एक ही जगह पर बैठने से आपस में बेहतर समन्वय स्थापित होगा और ग्रामीण जनता को भी इसका लाभ मिलेगा। वैशाली जिला के तीनों अनुमंडल कार्यालयों में नये राशन कार्ड का वितरण लाभुकों को किया गया। सदर अस्पताल हाजीपुर में ब्लड डोनेशन कैम्प लगाया गया।

50 वाँ जिला स्थापना दिवस के अवसर पर ग्रामीण क्षेत्रों में स्कूली बच्चों ने प्रभात फेरी निकाली, हाई स्कूलों के छात्रों ने साईकिल रैली निकाली, जगह-जगह स्वच्छता अभियान चलाया गया। जीविका के द्वारा मद्य निषेद्य रैली निकाल कर लोगों को जागरूक किया गया।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!