Breaking News

जिलाधिकारी के सतत प्रयास से अब गांव में विकास की धारा का प्रवाह हुआ प्रारंभ


जमुई से सुशील कुमार की रिपोर्ट

आज दिनांक 20.10.2022 सरकार के कल्याणकारी एवं विकास योजनाओं को सुचारू रूप से चलाने एवं जिले के उत्तरोत्तर विकास हेतु जमुई जिला अधिकारी अवनीश कुमार सिंह भा०प्र०से० के निर्देश पर बरहट प्रखंड के अति नक्सल प्रभावित गांव चोरमारा में आज दिनांक 20.10.2022 को विकास शिविर का आयोजन किया गया। चोरमारा गांव में पहली बार विकास कैंप लगने से यहां के ग्रामीणों के चेहरे पर खुशी देखने लायक थी। कभी आदिवासी बहुल इस गांव में नक्सलियों की इतनी धमक रहा करती थी कि कोई भी सरकारी पदाधिकारी इस इलाके में कदम रखने से कतराते थे। लेकिन शौर्यवान जिलाधिकारी अवनीश कुमार सिंह के सतत प्रयास से अब गांव में विकास की धारा का प्रवाह प्रारंभ हो गया। जिलाधिकारी जमुई अवनीश कुमार सिंह भा०प्र०से० के द्वारा नक्सलियों के गढ़ माने जाने वाले इलाके में खुद पहुंचकर विकास शिविर का उद्घाटन किया। विकास शिविर में जनता का जनसैलाब उमड़ पड़ा। जिलाधिकारी के निर्देश पर चोरमारा में लगाए गए विकास शिविर में सरकारी योजनाओं का लाभ मौके पर ग्रामीणों को दिया गया। विकास शिविर में अलग-अलग विभाग के स्टॉल लगाए गए थे। ग्राम विकास शिविर में सभी समस्याओं का आवेदन लेकर ऑन द स्पॉट निष्पादन किया जा रहा है। इसके साथ ही सरकार द्वारा चलाए जा रहे जनकल्याणकारी योजनाओं से संबंधित मौके पर आवेदन लेकर प्रखंड के जनता को विभिन्न योजनाओं का लाभ दिया गया।

   जिलाधिकारी के द्वारा विकास शिविर में ग्रामीणों को मौके पर ही जॉब कार्ड , राशन कार्ड , ट्राईसाइकिल, वासगीत पर्चा का किया वितरण किया गया। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने 6 ग्रामीण योजनाओं का उद्घाटन किया। जीविका के माध्यम से जीविकापार्जन के लिए सरेंडर किए नक्सली अर्जुन कोड़ा की पत्नी सरस्वती देवी को गुमटी दुकान एवं दुकान में सारा सामान दिया गया, जिस दुकान का उद्घाटन जिलाधिकारी ने अपने कर कमलों से किया। 

       विकास शिविर में मेडिकल कैंप का भी आयोजन हुआ जिसमें यहां के सैकड़ों ग्रामीणों ने स्वास्थ्य लाभ लिया। मौके पर जिलाधिकारी ने घोषणा करते हुए कहा कि गांव में स्वास्थ्य समस्याओं को देखते हुए सप्ताह में एक दिन स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव में कैंप लगाकर लोगों की स्वास्थ्य जांच करेगी। इसके साथ ही गांव में जल्द ही बिजली पानी दूरसंचार जैसी मूलभूत सुविधाओं की शुरुआत करने की बात कही। अभी ग्रामीणों को जन वितरण प्रणाली विक्रेता से राशन उठाओ के लिए बरहट प्रखंड जाना पड़ता है जिसके लिए यहां के ग्रामीणों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। जिलाधिकारी ने ग्रामीणों की समस्याओं को देखते हुए प्रखंड आपूर्ति पदाधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि अब जन वितरण प्रणाली विक्रेता गांव में ही खाद्यान्न लाकर खाद्यान्न का वितरण करेंगे।

 विकास शिविर में लोगों की समस्याओं का ऑन द स्पॉट निस्तारण किया गया। अगर किसी समस्या या शिकायत का निष्पादन मौके पर नहीं हो सका है तो उस समस्या को जल्द से जल्द निष्पादन करने का वरीय पदाधिकारियों को निर्देश दिया गया है। विकास शिविर में उप विकास आयुक्त शशि शेखर चौधरी, एडीएम सत्येंद्र कुमार मिश्रा, सीआरपीएफ के कमांडेंट, जिले के वरीय पदाधिकारी, क्षेत्र के जनप्रतिनिधि समेत प्रखंड की सैकड़ों जनता मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!