Breaking News

निर्जला उपवास रखने के बाद चांद निकलने के साथ पति का दीदार कर उनके हाथों किया अन्न जल ग्रहण


वैशाली:
महुआ करवा चौथ पर गुरुवार को सुहागिनों चांद निकलने के साथ ही उसका चलनी से दीदार किया। साथ ही पति को भी उसी चलनी से देखा और उनके हाथों अन्न जल ग्रहण कर व्रत की समापन की। 

करवा चौथ पर व्रती सुहागिने नए परिधान में सोलहो श्रृंगार से परिपूर्ण होकर व्रत का अनुष्ठान किया। उन्होंने दिन भर निर्जला उपवास रखने के बाद देर शाम 8:19 बजे चांद को निकलते ही उसे दीदार किया। साथ ही उसी चलनी से पति को भी देखा और व्रत की समापन की। बताया गया कि यह व्रत सुहागने द्वारा कार्तिक कृष्ण पक्ष चतुर्थी को विधि विधान के साथ किया जाता है।

 इस व्रत को करने से वह सदा सुहागन रहती है। साथ ही धन, यश, वैभव, रूप बचने के साथ पति की आयु लंबी होती है। यह व्रत सुहागिनों के लिए अति फलदायक बताया गया है। इधर जिन व्रती महिला के पति यहां नहीं थे। उन्होंने मोबाइल पर वीडियो कॉलिंग कर उनका दीदार के बाद ही अन्न जल ग्रहण किया। यह व्रत पहले बहुत कम महिलाओं द्वारा की जाती थी। हालांकि एक दशक से इसका प्रचलन अब गांवो में भी बढ़ते जा रहा है। व्रतियों ने बताया कि इस पर्व से दिली खुशी मिलती है। पति पत्नी में प्रेम बढ़ता है। साथ ही घर में संपन्नता आती है।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!