Breaking News

बिहार के युवा रोजगार मांगने वाले नहीं बल्कि रोजगार देने वाले बने: उद्योग मंत्री समीर कुमार महासेठ


वैशाली: हाजीपुर
:- बिहार के उद्योग मंत्री समीर कुमार महासेठ में अक्षयवट राय स्टेडियम में आयोजित त्रि दिवसीय उद्यमी संवाद प्रदर्शनी का उद्घाटन किया। उद्घाटन समारोह में जिलाधिकारी यशपाल मीणा मुख्य अतिथि के रूप में तथा उद्योग विभाग के विशेष सचिव दिलीप कुमार अति विशिष्ट अतिथि के रूप में उपस्थित रहे। उद्यमियों को संबोधित करते हुए बिहार के उद्योग मंत्री श्री समीर कुमार महासेठ ने कहा कि बिहार में उद्योग लगाने के लिए हर सुविधा मौजूद है। बियाडा के इंडस्ट्रियल लैंड बैंक में 3000 एकड़ से अधिक भूमि उपलब्ध है। वैशाली जिला के गोरौल और हाजीपुर में भी जमीन उपलब्ध है जिसे नए उद्यमियों को आवंटित किया जाएगा। 

पारदर्शिता सुनिश्चित करने के लिए आवेदन की प्रक्रिया को ऑनलाइन कर दिया गया है। उद्योग लगाने के लिए बियाडा की भूमि की दर में भी कमी लाई गई है। किसी क्षेत्र में 20% तो किसी क्षेत्र में 80% तक लैंड रेट को कम किया गया है। उद्योग लगाने वालों को हर सुविधा मिले, इसके लिए हम लोग लगे हुए हैं। यदि कहीं कोई कमी है तो उसे उद्योगपति हमारे संज्ञान में लाएं। उद्यमियों की आवश्यकताओं के अनुसार पॉलिसी बनेगी। उद्योग लगाने के लिए इच्छुक लोगों को किसी प्रकार की परेशानी नहीं होने देंगे। उद्योग छोटा हो या बड़ा हो, सबका हमारे लिए बड़ा महत्व है। उन्होंने कहा कि बिहार के युवा रोजगार मांगने वाले नहीं बल्कि रोजगार देने वाले बनें। हम चाहते हैं कि बिहार के लोग रोजगार मांगने वाला नहीं बल्कि रोजगार देने वाला बनें। जब हम उद्योग लगाते हैं तो रोजगार देने वाला बनते हैं। मालिक बनना फक्र की बात है। युवाओं को उद्योग लगाने के लिए आगे आना चाहिए।

बिहार की स्टार्टअप नीति की चर्चा करते हुए उद्योग मंत्री ने कहा कि सारी दुनिया में युवा नए-नए आईडिया पर काम कर रहे हैं। हमारे बिहार में आई आई एम आईआईटी निफ्ट और एनआईटी जैसी नामी संस्थाएं हैं। हमारे यहां 35 यूनिवर्सिटी हैं और 55 इंजीनियरिंग कॉलेज। यहां पर पढ़े-लिखे युवा नए आइडिया के साथ आएं। स्टार्टअप नीति के तहत 10 साल के लिए ब्याज मुक्त सीड फंडिंग की व्यवस्था की गई है। आवश्यकतानुसार 10 लाख तक की सीड फंडिंग उद्योग विभाग द्वारा की जाती है। स्टार्टअप के लिए पटना में नया सेंटर विकसित किया जा रहा है जहां स्टार्टअप के लिए विभाग द्वारा मॉडल ऑफिस उपलब्ध कराया जाएगा।

बिहार के 9 जिलों में 13 स्थानों पर प्लग और प्ले इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित किया जा रहा है। पटना, मुजफ्फरपुर, बेगूसराय, पश्चिम चंपारण, पूर्णिया, वैशाली, भागलपुर, सहरसा और नालंदा जिले में प्लग और प्ले सुविधा उद्यमियों को दी जाएगी। वैशाली जिले में गोरौल और हाजीपुर में यह सुविधा विकसित की जा रही है। इंफ्रास्ट्रक्चर मौजूद रहेगा और उद्यमी अपना मशीन लाकर कम समय में उत्पादन प्रारंभ कर सकते हैं। पूरे प्रदेश में 24 लाख वर्ग फीट क्षेत्र को प्लग एंड प्ले सुविधा के लिए विकसित किया जा रहा है।

श्री समीर कुमार महासेठ ने कहा कि बिहार में निवेश के लिए आने वाले उद्योगपतियों के लिए उद्योग विभाग द्वारा औद्योगिक क्षेत्रों का गाइडेड टूर कराया जाता है जिसमें विभाग या बियाड़ा के अधिकारी उद्योग लगाने वालों के साथ औद्योगिक क्षेत्रों का भ्रमण करते हैं और उनको पूरी जानकारी देते हैं।उद्योग लगाने के लिए प्रदेश में सिंगल विंडो क्लीयरेंस सिस्टम लागू है। ऑनलाइन माध्यम से आवेदन करना है और फिर सारा क्लीयरेंस सिंगल विंडो के माध्यम से दिया जा रहा है। उद्योग लगाने वालों को भटकना नहीं पड़ता।

बिहार में अधिक संख्या में उद्योग लगाकर हम रोजगार के नए-नए अवसर सृजित करने के लिए प्रयत्नशील हैं। लेकिन उसके लिए सबका सहयोग चाहिए। निवेशकों का, अधिकारियों का, बैंकों का और आम लोगों का। उद्यमियों से संवाद करने के बाद उद्योग मंत्री श्री समीर कुमार महासेठ ने जिला अधिकारी के साथ उद्योग विभाग की योजनाओं की समीक्षा बैठक की जिसमें जिला अधिकारी यशपाल मीणा ने सभी बैंकों को निर्देश दिया कि पीएमईजीपी और पीएम एफएमइ स्कीम के तहत निर्धारित लक्ष्य के अनुसार उद्योग लगाने के लिए ऋण की स्वीकृति दें। उद्योग विभाग के विशेष सचिव दिलीप कुमार ने उद्यमियों को विभाग की योजनाओं के बारे में जानकारी दी।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!