Breaking News

कार्तिक पूर्णिमा के स्नान को लेकर सोनपुर में सुविधाओं व सुरक्षा व्यवस्था का हुआ पुख्ता इंतजाम


वैशाली:
हाजीपुर कार्तिक पूर्णिमा के दिन गंगा और नारायणी नदी सहित अन्य नदियों में स्नान करने की परंपरा सदियों पुरानी है । यह परंपरा काफी महत्वपूर्ण है । कहते हैं कि कार्तिक पूर्णिमा में स्नान करने से सभी पापों से मुक्ति मिलती है । इस दिन जो कोई भी सच्चे मन और विधि विधान तरीके से पूजा पाठ स्नान करता है उसके जीवन में सुख-शांति और समृद्धि हमेशा बनी रहती है।

स्नान करने व दान करने से बैकुंठ लोक की प्राप्ति होती है । ऐसी मान्यता है कि इस दिन स्वर्ग से देवतागण भी आकर गंगा में स्नान करते हैं। यदि गंगा स्नान के लिए जाना संभव न हो तो आप घर पर ही गंगाजल मिलाकर स्नान करके पुण्य फल की प्राप्ति कर सकते हैं। बिहार के महाकुंभ के रूप में कार्तिक पूर्णिमा पर दक्षिण वाहिनी गंगा नदी पहलेजाघाट व सोनपुर स्थित नारायणी नदी सहित अन्य नदियों में कार्तिक पूर्णिमा के दिन स्नान के लेकर जिला प्रशासन से लेकर स्थानीय प्रशासन सुरक्षा और बेहतर सुविधा उपलब्ध हो इसके लेकर पूरी तैयारी कर ली गयी है । पहलेजा घाट दक्षिण वाहिनी गंगा नदी एवं नारायणी नदी सहित अन्य स्नान घाटों पर राज्य के कोने कोने से आने वाले लाखो स्नानार्थियों का आगमन होता है । इसकी सुरक्षा व्यवस्था को लेकर नदियों में स्नान के दौरान बैरिकेडिंग,गोताखोरों ,एसडीआरएफ की टीमों की व्यवस्था, कपड़ा चेंजिंग ,लाइट और अस्थायी शौचालय की व्यवस्था सहित अन्य व्यवस्था के अलावा भी सुरक्षा के लिए पर्याप्त मात्रा में महिला व पुरुष पुलिस बल के साथ कम्युनिटी पुलिस एवं प्रखंड क्षेत्र के विद्यालयों के स्काउट एवं गाइड के विद्यार्थी भी मेलार्थियों एवं स्नानार्थियों को मदद के लिए तैयारी में जुटे हुए हैं । सारण एसपी ने सुरक्षा व्यवस्था के लेकर उन्होंने निर्देशित किया है कि यातायात व ट्रैफिक व्यवस्था के लिए पुराना गंडक पुल पर 7 नवंबर से 10 नवंबर तक चार पहिए ,तीन पहिया वाहनों के आने-जाने पर प्रतिबंध रहेगा । जेपी सेतु से सोनपुर आने वाले वाहनों को बजरंग चौक से डाइवर्ट कर भरपुरा महारानी स्थल से रास्ते एनएच 19 लालू यादव चौक पर निकाली जाएगी जबकि पटना जाने वाले वाहन सीधे बाकरपुर होते हुए ओवरब्रिज होकर पटना जा सकेंगे । एसडीओ सुनील कुमार ने बताया कि कार्तिक पूर्णिमा के स्नान के दिन चंद्र ग्रहण को लेकर बाबा हरिहर नाथ मंदिर में 8 नवंबर के सुबह 8:00 बजे से रात्रि के 1:00 बजे तक जलाभिषेक दर्शन पूजन पर रोक लगाई गई है । स्नानार्थियों को किसी प्रकार की कठिनाई ना हो इसके लेकर सोनपुर एसडीओ सुनील कुमार, एडिशनल एसपी अंजली कुमार सिंह ने सुरक्षा व सुविधा की पुख्ता इंतजाम करते हुए उन्होंने कहा है कि पर्याप्त मात्रा में पुलिस बल के अलावा समाजसेवी ,कम्युनिटी पुलिस, स्काउट गाइड के बच्चे स्नानार्थियों को हर संभव सहायता करेगे। सोमवार को लाखो की संख्या में राज्य के कोने कोने से महिला,पुरुष स्नानार्थियों का आगमन खबर लिखे जाने तक पहलेजाघाट व नारायणी घाटों पर श्रद्धालुओं पहुँच गए है ।

कोई टिप्पणी नहीं

Type you comments here!